राहुल नहीं, मोदी हैं मोस्ट एलिजिबल बैचलर: मल्लिका शेरावत

  • 4 अक्तूबर 2013
मल्लिका शेरावत
मल्लिका एक रियलिटी शो के ज़रिए अपने लिए दूल्हा खोजेंगी.

मल्लिका की पसंद में नरेंद्र मोदी अव्वल नंबर के बैचलर, क्यों कंगना रानाउत को जाना पड़ा मुंबई के रेड लाइट एरिया में और अक्षय कुमार बनेंगे चाचा चौधरी के मददगार. ये सब जानिए आज मुंबई डायरी में.

नरेंद्र मोदी हैं मल्लिका की 'पसंद'

मल्लिका शेरावत राहुल गांधी नहीं बल्कि नरेंद्र मोदी को भारत का 'मोस्ट एलिजबल बैचलर' मानती हैं. मुंबई में अपने टीवी रियलिटी शो 'द बैचलरेट इंडिया' के प्रमोशन पर मल्लिका आईं और जब उनसे पूछा गया कि वो किसे भारत में 'मोस्ट एलिजबल बैचलर' मानती हैं तो उन्होंने बिना झिझके नरेंद्र मोदी का नाम लिया.

जब उनसे पत्रकारों ने पूछा कि क्या वो राहुल गांधी को इस योग्य नहीं मानतीं तो मल्लिका ने कहा, "नहीं मुझे उनमें दिलचस्पी नहीं. मैं सिर्फ़ नरेंद्र मोदी को पसंद करती हूं."

मल्लिका ने कहा, "अगर नरेंद्र मोदी मेरे शो में आ जाएं तो वो जो कहेंगे मैं करूंगी. उनका हुक़्म सर आंखों पर."

मल्लिका अपने इस शो के ज़रिए अपने लिए दूल्हा खोजेंगी. सात अक्टूबर से इस शो का प्रसारण शुरू होगा.

रेड लाइट एरिया में कंगना

कंगना रानाउत फ़िल्म 'रज्जो' में सेक्स वर्कर का किरदार निभा रही हैं.

कंगना रानाउत हाल ही में मुंबई के नागपाड़ा स्थित रेड लाइट इलाके में नज़र आईं. वहां की महिलाओं से उन्होंने काफी बातें की और कई घंटे उनके साथ बिताए.

दरअसल कंगना की आने वाली फ़िल्म है 'रज्जो' जिसमें वो एक मुजरा करने वाली का किरदार निभा रही हैं. और इसी रोल की रिसर्च करने के लिए वो इस इलाके में नज़र आईं.

उन्होंने यहां की महिलाओं के हाव-भाव और बोल चाल सीखने के लिए उनके साथ समय गुज़ारा. फ़िल्म में कंगना अपने से कम उम्र के नए कलाकार पारस अरोड़ा के साथ रोमांस करते दिखेंगी.

फ़िल्म के निर्देशक हैं विश्वास पाटिल और ये 15 नवंबर को रिलीज़ हो रही है.

चाचा चौधरी के 'मददगार' अक्षय कुमार

अक्षय कुमार की आने वाली फ़िल्म है 'बॉस'.

कई सालों से बच्चों के बीच बेहद मशहूर कॉमिक किरदार रहे चाचा चौधरी के मददगार के रूप में अक्षय कुमार नज़र आएँगे. दरअसल अक्षय की आने वाली फ़िल्म है 'बॉस' और इसके प्रमोशन के लिए वो कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते.

चाचा चौधरी की कॉमिक बुक के आने वाले एडिशन में अक्षय कुमार भी एक किरदार के रूप में नज़र आएंगे जो दुश्मनों से लड़ने में चाचा चौधरी की मदद करेंगे. इस ख़ास एडिशन को अंग्रेज़ी और हिंदी दोनों ही भाषाओं में प्रकाशित किया जाएगा.