मनोज कुमार की हॉलीवुड को 'चुनौती'

  • 22 नवंबर 2013
(मनोज बाजपेई, सुभाष घई, मनोज कुमार, मनीष तिवारी)

गोवा में चल रहे 44वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह में देशभक्ति फ़िल्में बनाने के लिए मशहूर अभिनेता मनोज कुमार ने भारतीय पैनोरमा सेक्शन का उद्घाटन करते हुए भारत की क्षेत्रीय फ़िल्मों को बढ़ावा देने की बात कही.

मनोज कुमार ने कहा, "रीजनल सिनेमा ही ओरिजिनल सिनेमा है. हमें इन फ़िल्मों को बिल्कुल नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए."

मनोज कुमार ने ऑस्कर पुरस्कारों को ज़रूरत से ज़्यादा अहमियत देने पर भी अफ़सोस जताया.

(रेखा ने किसके पैर छुए)

मनोज कुमार ने कहा, "हमें ऑस्कर की दौड़ में अंधा नहीं होना चाहिए. बल्कि ऐसे अवॉर्ड बनाने चाहिए कि ख़ुद हॉलीवुड उसे जीतने के लिए तरसे."

सेहत पूरी तरह से दुरुस्त ना होते हुए भी मनोज कुमार ने कार्यक्रम में शिरकत की. इसके अलावा यहां मनोज बाजपेई, सुभाष घई और प्रेम चोपड़ा जैसी हस्तियां भी पहुंची.

'अमरीका की देन- युद्ध और ख़ून-ख़राबा'

इस समारोह के पहले दिन अमरीकी अभिनेत्री सूज़न सरेन्डन ने प्रेस वार्ता में कहा, "अमरीका विश्व का सबसे बड़ा वॉर और लड़ाई निर्यात केंद्र है. अगर मेरे बस में हो तो सबसे पहले मैं दुनिया भर में लड़ाई के हालातों को ख़त्म करने की दिशा में ही काम करूं."

उन्होंने पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश को निशाना बनाते हुए कहा, "बुश के दो कार्यकालों की वजह से अमरीका के आर्थिक हालात बेहद ख़राब हैं और जिसकी वजह से लोगों का ध्यान हिंसा और लड़ाई पर ज़्यादा जाने लगा है."

(सागर किनारे फ़िल्मों का मेला)

सूज़न का नाम ऑस्कर के लिए पांच बार नामांकित हुआ है और वो एक बार ऑस्कर अवार्ड जीत भी चुकी हैं .

टिकट को लेकर बवाल

11 दिनों तक चलने वाले इस समारोह में देश-विदेश की कुल 326 फिल्में दिखाई जाएंगी लेकिन मैनेजमेंट पर दबाव पहले दिन से ही शुरू हो गया है.

इन फिल्मों को दिखाने के लिए सात स्क्रीन की व्यवस्था की गई है फिर भी अपनी मनपसंद फ़िल्म देखने के लिए टिकट पाना आसान नहीं है.

फ़िल्म प्रेमियों को लंबी लाइन और हाउसफ़ुल के बोर्ड मायूस कर रहे हैं.

साथ ही लोगों को कार्यक्रमों की सूचना सामग्री हासिल करने के लिए भी ख़ासी मशक्कत करनी पड़ी. समारोह का प्रबंध संभाल रहे आयोजक अपने काम को करने में पूरी तरह से विफल नज़र आ रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार