अनुराग के साथ रिश्ते पर चुप हुमा

हुमा क़ुरैशी
Image caption 'डेढ़ इश्क़िया' में अरशद वारसी से इश्क़ लड़ाएंगी हुमा.

हुमा क़ुरैशी इन दिनों सातवें आसमान पर हैं और ऐसा हो भी क्यों ना. माधुरी दीक्षित के साथ उनकी फ़िल्म 'डेढ़ इश्क़ियां' जल्द रिलीज़ होने जा रही हैं.

हुमा से इस फ़िल्म और उनकी निजी ज़िंदगी के बारे में चर्चा की बीबीसी की संवाददाता सुप्रिया सोगले ने.

Image caption माधुरी के साथ 'डेढ़ इश्क़िया' में दिखेंगी हुमा.

'मेरा माधुरी दीक्षित से कोई मुक़ाबला नहीं' - हुमा क़ुरैशी

माधुरी दीक्षित के साथ हुमा क़ुरैशी फ़िल्म 'डेढ़ इश्क़िया' में नज़र आने जा रही हैं. उनके साथ प्रतिस्पर्धा की बात छिड़ी तो हुमा ने तुरंत बोला, ''अगर आप मुझे बोलेंगे कि किसी दूसरी फ़िल्म में माधुरी हैं तो मैं तुरंत उस फ़िल्म को देखने के लिए जाऊंगी.''

माधुरी की तारफ़ी करते हुए उन्होंने आगे कहा, ''वो एक महान अदाकारा हैं और मुझे नहीं लगता कि मैं माधुरी के साथ मुक़ाबला कर सकती हूँ, मैं करना ही नहीं चाहती क्योंकि मैं उन्हीं को देखकर बड़ी हुई हूँ. सच कहूँ तो वो इतनी अच्छी और कमाल की इंसान हैं कि मुक़ाबले की भावना न तो उनके दिमाग़ में आई होगी और न ही किसी और के. और अगर आप फ़िल्म(डेढ़ इश्क़िया) देखेंगे तो हम सभी कलाकारों ने एक बराबर काम किया है और हम सबकी इस फ़िल्म में अहम भूमिकाएं है.''

'मैं इनसिक्योर नहीं हूँ'

सात फ़िल्म पुराने अपने फ़िल्मी करियर में हुमा ने सभी मल्टी स्टारर फ़िल्में की हैं. इनमें से कई फ़िल्मों में उन्हें दूसरी हिरोइन के साथ स्क्रीन शेयर करना पड़ा. ये पूछे जाने पर कि क्या दूसरी हिरोइन को देखकर या उनके साथ काम करके उन्हीं किसी तरह की इनसिक्योरिटी होती है, हुमा कहती हैं, ''मुझे नहीं लगता कि मैं इनसिक्योर पर्सन हूँ. अगर मैं कोई अच्छी परफॉर्मेंस देखती हूँ, या किसी के साथ कुछ अच्छा होते देखती हूँ तो उससे प्रेरणा लेती हूँ. मैं एक मध्य वर्गीय परिवार से आती हूँ. जब आप कुछ करने का सपना देखते हैं, और उसे पाने की सच्ची कोशिश करते हैं तभी आप कामयाब होते हैं. असुरक्षा की भावना आपको कहीं पहुंचने नहीं देती.''

Image caption हर तरह की फ़िल्में करना चाहती हैं हुमा .

'हर तरह की फ़िल्में करना चाहती हूँ'

हुमा कुरैशी 'गैंग्स ऑफ वासेपुर', 'लव-शव ते चिकनखुराना', 'एक थी डायन' और 'डी-डे' जैसी अलग-अलग शैली की फ़िल्में कर चुकी हैं. लेकिन सेक्स-कॉमेडी फ़िल्में करने के बारे में हुमा क्या सोचती हैं?

''मैंने कभी किसी विशेष शैली की फ़िल्में करने के बारे में नहीं सोचा. मैं सभी तरह की फ़िल्में करना चाहती हूँ. अगर स्क्रिप्ट अच्छी है और फ़िल्म बनाने वाले लोग अच्छे हैं तो मैं ज़रूर काम करना चाहूँगी. फ़िल्म बनाना एक लम्बी प्रक्रिया है. अगर मैं किसी फ़िल्म के लिए हां कहती हूँ तो मुझे अगले छह से आठ महीने उन्हीं लोगों के साथ काम करना होगा.''

Image caption हुमा क़ुरैशी और अनुराग कश्यप

अनुराग के साथ रिश्ते पर चुप्पी

'गर्ल नेक्स्ट डोर' दिखने वाली हुमा क़ुरैशी का फ़िल्मी करियर तो काफ़ी अच्छा चल रहा है, लेकिन उनकी निजी ज़िंदगी में कुछ विवाद जुड़ते रहे हैं. हुमा क़ुरैशी को लेकर 'गैंग्स ऑफ़ वासेपुर' बनाने वाले निर्देशक अनुराग कश्यप और उनकी अभिनेत्री पत्नी कल्कि कोचलिन कुछ महीने पहले अलग हो गए. कथित तौर पर इसके पीछे वजह अनुराग कश्यप और हुमा के बीच बढ़ती नज़दीकियों को माना गया. हुमा इसपर खुलकर अपनी बात रखने से बचती ही दिखाई दीं.

उनका कहना था, "मुझे इस मामले पर जो कहना था वो मैं कह चुकी हूँ. मुझे कभी भी इसपर और कुछ कहने की ज़रूरत नहीं पड़ी, अगर पड़ी होती तो मैं ज़रूर साफ़ करती."

(बीबीसी हिन्दी का एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक कीजिए. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार