फ़िल्म अवॉर्ड्स पर शाहरुख़ की सफ़ाई

शाहरुख़ ख़ान

अक्सर फ़िल्म अवॉर्ड समारोहों पर पक्षपात के आरोप लगते रहे हैं. ख़ुद कई कलाकारों ने समय समय पर आरोप लगाए हैं कि इन समारोहों में उन्हीं को पुरस्कार मिलता है जो इनमें डांस करते हैं लेकिन ऐसे ही तमाम अवॉर्ड्स जीत चुके शाहरुख़ ख़ान ने जमकर इन पुरस्कारों का बचाव किया है.

('हैप्पी न्यू ईयर')

मुंबई में एक हुए फ़िल्म पुरस्कार समारोह से संबंधित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में शाहरुख़ ख़ान ने कहा, "इन समारोहों में नाचने का मौक़ा भी उन्हीं को मिलता है जिनके लिए साल अच्छा बीता हो. जिनकी फ़िल्में चली हों. इसलिए इन पुरस्कारों पर पक्षपात का आरोप लगाना ग़लत है. मेरे लिए तो हर अवॉर्ड ख़ास होता है."

‏भावुक हुए शाहरुख़

शाहरुख ख़ान इस मौक़े पर अपने पहले अवॉर्ड को याद करते हुए थोड़े भावुक भी हो गए. उन्होंने कहा कि वो अपने मां-बाप को अपनी कामयाबी दिखाना चाहते थे लेकिन दोनों ही उनकी सफलता देखने के लिए तब तक जीवित नहीं थे.

(जहां रहते हैं सितारे)

शाहरुख़ बोले, "पहले मैं अपने अवॉर्ड्स अपने मां-बाप को समर्पित करता था अब मैं अपने बच्चों को ये अवॉर्ड्स समर्पित करता हूं. मैं अब भी चाहता हूं कि एक दिन ऐसी महान फ़िल्म करूं जिसे मेरे मां-बाप जन्नत से देख कर मुझ पर गर्व करें."

Image caption शाहरुख़ ख़ान के मुताबिक़ वो अवॉर्ड्स अब अपने बच्चों को समर्पित करते हैं.

उन्होंने हंसते हुए कहा कि अब उनके तीन बच्चे हैं तो कुछ ज़्यादा अवॉर्ड्स जीतने पड़ेंगे.

संभावना

क्या उन्हें अपनी फ़िल्म 'चेन्नई एक्सप्रेस' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिलने की संभावना है.

(इन फ़िल्मों पर होगी नज़र)

इस पर शाहरुख़ ख़ान ने कहा, "मुझे तो पता ही नहीं कि मैं कितने पुरस्कारों के लिए नामांकित हुआ हैं. तो मैं इस बारे में क्या कहूं." उन्होंने ये भी दावा किया कि उनमें खेल भावना कूट-कूट कर भरी है और किसी और कलाकार को जब पुरस्कार मिलता है तो उन्हें बिलकुल बुरा नहीं लगता.

और कार्यक्रम के आख़िर में जब किसी पत्रकार ने उनसे पूछ लिया कि उन्हें और सलमान ख़ान को साथ में कब देखा जा सकेगा तो शाहरुख़ ख़ान ने कहा, "कितना पुराना सवाल पूछ लिया यार. कुछ तो दिलचस्प सवाल पूछ लो."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार