चंबल में जाकर उड़ गए ‘रिवॉल्वर रानी’ के होश

  • 13 अप्रैल 2014
रिवॉल्वर रानी

बॉलीवुड की ‘क्वीन’ कंगना रानाउत आजकल अपनी नई फ़िल्म ‘रिवॉल्वर रानी’ का प्रचार कर रही हैं.

फ़िल्म में कंगना एक लेडी डॉन का किरदार निभा रही हैं जिसे फ़िल्म के ट्रेलर में कुछ यूं बयां किया गया है, “हम हैं अल्का सिंह, आई लब फैशन, फन और गन”.

फ़िल्म ‘रिवॉल्वर रानी’ में कंगना ने जितने डॉयलॉग नहीं बोले उतनी गोलियां चलाई हैं और चलाएं भी क्यों न आखिर 'रिवॉल्वर रानी' जो ठहरी.

लेकिन रील लाइफ़ में दनादन गोलियां चलाने वाली कंगना के उस वक़्त होश ही उड़ गए जब उन्हें पता चला कि फ़िल्म के सेट पर आने वाले स्थानीय दूध वाले के पास भी गन है और वो भी असली.

बच्चा बच्चा रखता है बंदूक

ये वाक़या कुछ यूं है कि फ़िल्म को वास्तविक लुक देने के लिए फ़िल्म के निर्देशक साई कबीर ने शूटिंग के लिए चंबल ज़िले के एक गांव को चुना.

कंगना रानाउत की फ़िल्म 'क्वीन' हिट रही थी.

शूटिंग शुरू करने से पहले कंगना लोकेशन को लेकर काफी उत्साहित थी लेकिन शूटिंग के दौरान कंगना को मालूम चला कि इस गांव में बच्चे भी अपने पास बंदूक रखते हैं और यहां तक कि पास के गांव से यूनिट के लिए दूध लाने वाले के पास भी एक बंदूक रहती है.

कंगना ने बताया, “कबीर (फ़िल्म के निर्देशक) ने फ़िल्म शुरू करने से पहले मुझे चंबल में शूटिंग के बारे में कुछ बताया नहीं था. मुझे बस कहा गया कि फ़िल्म को नेचुरल लुक के लिए हमें वहां ले जाया जा रहा है. वर्ना मैं वहां कभी नहीं जाती.”

वैसे फ़िल्म में कंगना की किरदार ग्रे शेड लिए हुए है और इस किरदार को करने की वजह से कंगना की उनकी बहन से काफ़ी बहस भी हो गई थी.

कंगना ने बताया, “मेरी बहन को लगता था कि अभी अभी ‘क्वीन’ से मेरी इमेज अलग तरह की हो गई है. ‘रिवॉल्वर रानी’ में निगेटिव किरदार करने से मेरी लोकप्रियता घट सकती है. पर मैंने इस फ़िल्म को करने का मन बना लिया था.”

‘क्वीन’ का प्रेशर ‘रानी’ पर

इस फ़िल्म में कंगना के अलावा कॉमेडियन वीर दास और पीयूष मिश्रा भी हैं लेकिन जैसा नाम से ज़ाहिर है फ़िल्म की मुख्य रूप से कंगना पर आधारित है.

कंगना ने ये भी माना की ‘क्वीन’ की सफलता के बाद इस फ़िल्म से उम्मीदें काफ़ी बढ़ गई हैं.

वो कहती हैं, “मुझे मालूम है कि मेरी पिछली फ़िल्म के बाद दर्शकों की उम्मीद मुझसे ज़्यादा बढ़ गई हैं. मेरा बस चलता तो इन दोनों फ़िल्मों के बीच चार से पांच महीने का अंतराल रहता. लेकिन इन दोनों फ़िल्मों और इनके किरदारों की तुलना न करें. दोनों कहानियां, किरदार उनके हालात बिल्कुल अलग हैं.”

कंगना की ये नई फ़िल्म अप्रैल 2014 के आख़िरी हफ़्ते में सिनेमाघरों में आ सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार