जब हताश अमिताभ को 'रोका मनोज कुमार ने'

  • 24 जुलाई 2014
मनोज कुमार इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar

देशभक्ति से लबरेज़ फ़िल्में बनाने के लिए मशहूर मनोज कुमार 24 जुलाई को 77 साल के हो गए.

इस मौक़े पर उन्होंने बीबीसी से ख़ास बातचीत में अपनी कई दिलचस्प बातें बताईं और तस्वीरें साझा कीं.

ये तस्वीर है साल 1965 में रिलीज़ हुई मनोज कुमार की फ़िल्म 'शहीद' की, जो क्रांतिकारी भगत सिंह के जीवन पर आधारित थी.

उन्होंने साल 1957 में बतौर अभिनेता फ़िल्म 'फ़ैशन' से अपना करियर शुरू किया. उसे वो अपनी पसंदीदा फ़िल्म भी मानते हैं.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar
Image caption मनोज कुमार की जवानी की एक तस्वीर

ज़्यादातर फ़िल्मों में उनके किरदार का नाम भारत था, इस वजह से लोग उन्हें 'भारत कुमार' भी कहने लगे.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar
Image caption मनोज कुमार और अमिताभ बच्चन दिल्ली में इंडिया गेट के सामने

मनोज कुमार ने बीबीसी को बताया कि जब लगातार विफलताओं से हताश होकर अमिताभ बच्चन मुंबई छोड़कर अपने मां-बाप के पास दिल्ली वापस जा रहे थे तब उन्होंने अमिताभ को रोका और अपनी फ़िल्म 'रोटी, कपड़ा और मकान' में मौक़ा दिया.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar
Image caption फ़िल्म रोटी, कपड़ा और मकान के सेट पर (बाएं से) मनोज कुमार, अमिताभ बच्चन, धीरज कुमार, शशि कपूर

मनोज कुमार कहते हैं, "जब लोग अमिताभ को नाकामयाबी की वजह से ताने दे रहे थे, तब भी मुझे उन पर पूरा भरोसा था कि वो एक दिन बहुत बड़े स्टार बनेंगे."

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar
Image caption फ़िल्म 'क्रांति' के सेट पर मनोज कुमार और दिलीप कुमार.

मनोज कुमार ने इस फ़िल्म का निर्देशन भी किया था. मनोज कुमार ने बताया कि उनकी फ़िल्म 'पूरब और पश्चिम' में काम करने के लिए दिलीप कुमार ने अपनी पत्नी सायरा बानो को मनाया. इसके बाद उन्होंने दिलीप कुमार को अपनी फ़िल्म 'क्रांति' में कास्ट किया.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar
Image caption साल 1967 की सुपरहिट फ़िल्म उपकार के प्रीमियर पर मनोज कुमार

मनोज कुमार बताते हैं कि फ़िल्म की प्रेरणा उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री से मिली जिन्होंने 'जय जवान-जय किसान' का नारा दिया था.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar

मनोज कुमार बताते हैं कि उनके तमाम नेताओं से अच्छे संबंध थे.

लाल बहादुर शास्त्री के अलावा इंदिरा गांधी और अटल बिहारी वाजपेई भी उनकी फ़िल्में पसंद करते थे.

80 के दशक की इस तस्वीर में मनोज कुमार तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के साथ नज़र आ रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar
Image caption राज कपूर और युवा ऋषि कपूर के साथ मनोज कुमार

मनोज कुमार ने राज कपूर की बेहद चर्चित फ़िल्म 'मेरा नाम जोकर' में काम किया था.

मनोज कुमार कहते हैं, "जब मेरे क़रीबी दोस्तों जैसे राज कपूर, देव आनंद और प्राण की फ़िल्में टीवी पर आती हैं तो मैं चैनल बदल देता हूं क्योंकि उन कलाकारों की यादें मुझे रुला देती हैं."

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar

अभिनेता शाहरुख़ ख़ान से मनोज कुमार उस वक़्त नाराज़ हो गए थे जब शाहरुख़ ने अपनी फ़िल्म 'ओम शांति ओम' के एक सीन में मनोज कुमार की नकल वाला एक सीन रखा था.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar

हालांकि बाद में शाहरुख़ ने दावा किया था कि उन्होंने मनोज कुमार से माफ़ी मांग ली है.

मनोज कुमार ने बीबीसी को बताया कि शाहरुख़ से नाराज़गी वाली बात अब पुरानी हो गई है और अब वो किस्सा भूल चुके हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)