बिग बॉस: प्यार, झगड़ा या बेकार का ड्रामा

उपेन पटेल, सोनाली राऊत इमेज कॉपीरइट COLORS

टीवी रियलिटी शो 'बिग बॉस' घर के भीतर होने वाले विवादों और प्रतियोगियों के बीच होने वाली नोक-झोंक को लेकर अपने पहले सत्र से ही चर्चा का विषय बना हुआ है.

शो के आठवें सत्र में भी कुछ शो को देखने और चाहने वाले दर्शकों का शो को लेकर अलग अलग विचार है.

इमेज कॉपीरइट COLORS

कुछ का मानना है कि शो पूरी तरह से स्क्रिप्टेड होता है यानी इसमें होने वाले झगड़े, प्यार, मोहब्बत सब कुछ तयशुदा कार्यक्रम के हिसाब से होता है ताकि टीआरपी बटोरी जा सके. वहीं कुछ लोग मानते हैं कि शो में दिखाई ज़्यादातर बातें असल होती हैं.

शो में हिस्सा ले चुके प्रतियोगियों तक की इसके बारे में मिली जुली राय है.

क्या कहते हैं प्रतियोगी?

इमेज कॉपीरइट COLORS

बिग बॉस-8 में हिस्सा ले चुकीं मिनिषा लांबा ने बीबीसी को बताया, "बिग बॉस के घर में सब बनावटी होता है. जो प्रतियोगी असल होते हैं वो ज़्यादा दिनों तक टिकते ही नहीं. दर्शकों का अटेंसन पाने के लिए लोग ड्रामेबाज़ी करते हैं. ऊल-जलूल हरक़तें करते हैं."

वहीं एक दूसरे प्रतियोगी, प्रणीत भट्ट ने कहा, "जो भी लड़ाई झगड़ा होता है वो मानसिक तनाव की वजह से होता है. बाहर आने के बाद एक-दूसरे से झगड़ने वाले लोग ही दोस्त बन जाते हैं."

प्रेम-प्रसंग

इमेज कॉपीरइट COLORS

शो के दौरान प्रतियोगियों के बीच पनपने वाले प्रेम पर भी कोई मज़बूती से दावा नहीं कर सकता.

बिग बॉस-8 के दौरान शो के प्रतियोगी गौतम गुलाटी और डाएंड्रा के बीच काफ़ी नज़दीकी देखी गई.

इमेज कॉपीरइट Colors

इससे पहले के सत्रों में कुशाल टंडन और गौहर ख़ान ने भी शो के अंदर ही एक दूसरे के प्रति प्यार का इज़हार किया.

अरमान कोहली और तनीषा मुखर्जी ने भी अपनी नज़दीकी क़बूली.

इमेज कॉपीरइट COLORS

लेकिन शो ख़त्म होने के चंद रोज़ बाद ही इन दोनों ही जोड़ों ने अपने अलग होने का ऐलान कर दिया.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार