ये हैं लेडी ज़ाकिर हुसैन

ज़ाकिर हुसैन, अनुराधा पाल इमेज कॉपीरइट ANURADHA PAL

सिर्फ़ सात साल की उम्र में उन्हें तबले से इश्क़ हो गया और दस साल की होते होते वो बाक़ायदा सार्वजनिक तौर पर लोगों के सामने परफ़ॉर्म करने लगी थीं.

(सुनिए: अनुराधा का तबला वादन)

मुंबई की रहने वाली अनुराधा पाल को लोग लेडी ज़ाकिर हुसैन के नाम से भी बुलाते हैं.

बीबीसी से बात करते हुए अनुराधा कहती हैं, "मेरे मां-बाप ने हमेशा रियाज़ करने पर ज़ोर दिया. उन्होंने मुझे सिखाया कि तबला वादन को काम नहीं पूजा की तरह लो. इसी वजह से मेरे काम में व्यवसायिकता हावी नहीं हो पाई."

इमेज कॉपीरइट ANURADHA PAL

अनुराधा बताती हैं कि 13 साल की उम्र से ही वो विदेश में भी अपने कॉन्सर्ट कर रही हैं.

वो दावा करती हैं कि वो भारत की एकमात्र प्रोफ़ेशनल महिला तबला वादक हैं.

वो बताती हैं कि बचपन में उनके भाई को तबला सिखाने वाले गुरू उन्हें लड़की होने की वजह से तबला सिखाने को तैयार ही नहीं हुए. तब उन्होंने अपने भाई को देखकर तबला बजाना सीखा.

यादगार लम्हा

अनुराधा बताती हैं कि जब वो 14 साल की थीं तो उन्होंने कोटा में परफॉर्म किया था. उस दौरान महान तबला वादक ज़ाकिर हुसैन के पिता और ख़ुद एक प्रख्यात तबला वादक उस्ताद अल्ला रक्खां ख़ान भी मौजूद थे.

इमेज कॉपीरइट ANURADHA PAL

अनुराधा ने बताया, "जब मैं स्टेज पर पहुंची तो लोगों को लगा कि मैं हैल्पर हूं. लेकिन जब मैंने तबला पर थाप देनी शुरू की तो लोग दंग रह गए. उस्ताद अल्ला रक्खां ख़ान ने मानो आंखों में इशारा कर दिया कि दिखा दो इन्हें कि तुम क्या हो. तब तो मैंने मारे उत्साह के ऐसे बजाया कि लोग वाह-वाह कर उठे."

अनुराधा के नाम कई उपलब्धियां दर्ज हैं. वो दावा करती हैं कि वो भारत की सबसे कम उम्र की और अकेली महिला संगीतकार हैं, जिन्होंने वुडस्टॉक फ़ेस्टिवल में प्रस्तुति दी है.

वुडस्टॉक फ़ेस्टिवल यूरोप में होता है जहां अनुराधा ने चार लाख लोगों के सामने ओपन एअर प्रस्तुति दी थी.

फ़ैन से शादी

इमेज कॉपीरइट ANURADHA PAL

अनुराधा की प्रेमकहानी भी कम दिलचस्प नहीं है.

उनके पति पेशे से एक आईटी प्रोफ़ेशनल हैं. वो कई बार उनका शो देखने आते थे और एक दिन अपने प्यार का इज़हार भी कर दिया.

अनुराधा को भी वो जंच गए और दोनों ने शादी कर ली.

महिला बैंड

इमेज कॉपीरइट ANURADHA PAL

अनुराधा ने का स्त्री शक्ति नाम का एक बैंड है जिसमें छह लड़कियां हैं. इस बैंड ने भारत के अलावा कई देशों में अपनी प्रस्तुति दी है.

इसके अलावा रिचार्जप्लस नाम का भी एक बैंड है जिसमें महिलाएं और पुरुष दोनों हैं.

अपने इन दोनों बैंड्स को लेकर अनुराधा कई विदेशी कलाकारों के साथ मिलकर फ़्यूज़न रच चुकी हैं.

अनुराधा फ़िल्मों में संगीत देने को लेकर ज़्यादा उत्साहित नहीं हैं और अपना ध्यान कॉन्सर्ट में ही लगाना चाहती हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार