किसका बाजा बजाएगा पुराना 'डॉन'

फ़िल्म निर्देशक चंद्रा बारोट इमेज कॉपीरइट Shweta Pandey

बॉलीवुड की क्लासिक फ़ि‍ल्मों में शुमार ‘डॉन’ के निर्देशक चंद्रा बारोट एक बार फिर निर्देशन में हाथ आजमाने उतरे हैं. इस बार उन्होंने एक छोटे बजट की फ़ि‍ल्म को चुना है.

‘हम बाजा बजा देंगे’ नाम की इस फ़ि‍ल्म में जैकी श्रॉफ के साथ कई नए कलाकार नज़र आएंगे, साथ ही अनूप जलोटा और पंकज उधास भी एक गाने में दिखाई देंगे.

इसी फ़ि‍ल्म के प्रमोशन के दौरान चंद्रा बारोट से बीबीसी ने की ख़ास मुलाक़ात. इस मुलाक़ात में कुछ नई योजना और पुरानी बातों पर भी चर्चा हुई.

कमबैक ‘डॉन’

इमेज कॉपीरइट Chandra Barot
Image caption अमिताभ बच्चन और चंद्रा बारोट फ़िल्म डॉन की शूटिंग के दौरान.

वर्ष 1978 में रिलीज़ फ़ि‍ल्म ‘डॉन’ को बॉलीवुड कल्ट फ़ि‍ल्म का दर्ज़ा मिला है. इस फ़ि‍ल्म के गाने और डॉयलॉग आज भी लोगों की ज़ुबान पर हैं.

इस फ़ि‍ल्म के बाद चंद्रा ने कई प्रोजेक्ट शुरू किए, लेकिन उन्हें बड़ी सफलता नहीं मिली. इसके बाद वर्ष 1991 में ‘प्यार भरा दिल’ का निर्देशन किया, लेकिन सफलता हाथ न लगी. फि‍र से वो कमबैक करने को तैयार हैं.

इतने लंबे ब्रेक के बारे में पूछने पर वो कहते हैं, "डॉन की कामयाबी की तख्ती काफ़ी भारी हो गई. लोगों की उम्मीदें बढ़ गईं. कोशि‍श हमेशा रही है कि पिछली फ़ि‍ल्म से बेहतर करूं, लेकिन स्टारकास्ट और बज़ट के अभाव में ऐसा नहीं हो सका."

कहा जाता है कि मायानगरी में जिसे सफलता नहीं मिलती उससे सभी लोग किनारा कर लेते हैं.

फ़िल्म जगत से जुड़े साथि‍यों के साथ देने का सवाल पर चंद्रा ने कहा, "सभी ने मेरा साथ दिया है. आज भी लोग मुझे याद करते हैं."

रीमेक को ‘ना’

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption डॉन फ़िल्म के लेखक सलीम ख़ान और जावेद अख़्तर.

डॉन फ़िल्म के लेखक थे सलीम ख़ान और जावेद अख़्तर. जावेद अख़्तर के बेटे फ़रहान अख़्तर ने डॉन फिल्म का रीमेक बनाया था जिसमें शाहरुख़ ख़ान ने मुख्य भूमिका की थी.

इस पर चंद्रा कहते हैं, “सलमान, अभि‍षेक और फरहान मेरे बच्चों जैसे ही हैं. फ़रहान जब मुझसे कॉपी राइट के दस्तावेज़ों पर दस्तख़्त कराने आया था, तो मैंने बिना देखे ही दस्तख़्त कर दिया था. मुझे प्रीमियर पर भी बुलाया. जिस नज़र से उसने ‘डॉन’ देखी उसने बना दी."

वैसा चंद्रा क्लासिक फ़िल्मों के रीमेक बनाने से ज़्यादा इत्तेफाक नहीं रखते. वो कहते हैं, "फि‍र भी मेरा मानना है कि क्लासिक फ़ि‍ल्मों का रीमेक नहीं बनना चाहिए. उस फ़ि‍ल्म को दर्शकों के दिमाग़ में हमेशा ताज़ा रहना चाहिए.”

‘टाइगर’ से रिश्ते हैं अच्छे

इमेज कॉपीरइट Chandra Barot

सिनेमा जगत के बनते बिगड़ते रिश्तों की कहानियाँ अक्सर सुनने में आती हैं. चंद्रा और अमिताभ के रिश्ते कभी बहुत अच्छे थे. चंद्रा अमिताभ को ‘टाइगर’ बुलाते हैं.

दोनों के बीच क्या अब भी पहले जैसा ही रिश्ता है, इस पर चंद्रा कहते हैं, “रिश्ता एक बार ही बनता है और ताउम्र बना रहता है.”

वो कहते हैं, “अभी हाल ही में मैं अल पचीनों की एक फ़ि‍ल्म देख रहा था कि मुझे ‘शमिताभ’ में अमिताभ का मोनोलॉग याद आया और रात में 4.30 बजे पर मैसेज किया, जिसका उसने तुरंत जवाब दिया.”

अभि‍षेक बच्चन को किसी फ़िल्म में लेने की संभावना के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘वो मेरा बच्चा है. प्रोफ़ेसनली एक बार कहूंगा तो ज़रूर, हां या ना कहना उसका फ़ैसला होगा. उम्मीद किसी से नहीं रखता. हालांकि, वो जब भी जहां भी मिलता है, मेरा आदर करता है. वैसे वो अब एक्शन से कॉमेडी करने लगा है, और कॉमेडी मेरा ज़ॉनर नहीं है.’’

ख़्वाहिश

इमेज कॉपीरइट Chandra Barot

फ़िल्म जगत में इस समय ख़ानों का जलवा है. हर कोई उनके साथ काम करना चाहता है.

चंद्रा कहते हैं, “इन लोगों को साइन करने के लिए ज़्यादा पैसा चाहिए, जो मेरे पास है नहीं.”

उन्होंने शाहरुख़ ख़ान के एक इंटरव्यू का हवाला देते हुए कहा, “शाहरुख़ से पूछा गया था कि उस दौर में किस निर्देशक के साथ काम करना पसंद करेंगे, तो उसने मेरा नाम लिया. इतना ही काफ़ी है, कम से कम आज के अभि‍नेता मुझे या मेरे काम जानते तो हैं.”

चंद्रा कहते हैं कि पर्याप्त बजट मिला तो वो शाहरुख़ या सलमान के साथ ज़रूर फ़ि‍ल्म बनाना चाहेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार