आईपीएलः गानों की रॉयल्टी पर विवाद

इमेज कॉपीरइट Sportzpics cc

आईपीएल टूर्नामेंट दर्शकों को लुभा तो रहा है लेकिन इसके मैचों के दौरान स्टेडियम में इस्तेमाल होने वाले गानों को लेकर बीसीसीआई बेहद मुश्किल में है.

दरअसल आईपीएल मैचों के दौरान लोगों का ज़्यादा से ज़्यादा मनोरंजन करने के मक़सद से फ़िल्मी गानों का इस्तेमाल किया जाता है.

लेकिन नियम ये है कि यदि किसी पब्लिक इवेंट में हिंदी फ़िल्मों के गाने बजाए जाते हैं तो आयोजक को गायक और संगीत कंपनी को कुछ रॉयल्टी देनी पड़ती है.

रॉयल्टी का यही मसला अब बीसीसीआई के गले की हड्डी बन गया है.

पहले गानों के लाइसेंस को लेकर म्यूज़िक कंपंनियों से विवाद था और अब इन गानों के प्रयोग से गायकों को मिलने वाली रॉयल्टी के मामले ने तूल पकड़ा है.

सुनवाई बाकी

गायकों की रॉयल्टी उन्हें मिल सके इसके लिए इंडियन सिंगर्स राइट्स एसोसिएशन (आईएसआरए यानि इसरा) ने बीसीसीआई से मांग की थी लेकिन बीसीसीआई ने इस पर अभी तक कोई सुनवाई नहीं की है.

सोनू निगम ने बीसीसीआई के इस रवैये पर हैरत जताते हुए कहा है, "चेन्नई सुपरकिंग्स ऐसा नहीं कर रहा है तो बाकी टीमें ऐसा क्यों कर रही हैं? मैं पूरी तरह से ईसरा के साथ हूं और उम्मीद करता हूं कि गायकों को उनकी रॉयल्टी मिलेगी."

इसरा के मैनेजिंग डायरेक्टर संजय टंडन ने कहा, "बीसीसीआई अपने राइट्स को लेकर बहुत संवेदनशील रहता है. लेकिन गायकों को लेकर वो जिस तरह का रवैया अपना रहे हैं ये हैरानी की बात है."

इस ख़बर पर बीसीसीआई की आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है. इसरा से उनकी बातचीत जारी है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार