मुश्किल था सलमान की फ़िल्म का 'अंत'

बंजरंगी भाईजान इमेज कॉपीरइट by Spice PR

सलमान ख़ान की फ़िल्म अपने आप में भव्य होती है लेकिन उनकी आने वाली फ़िल्म बजरंगी भाईजान को भव्य बनाने के लिए निर्देशक कबीर ख़ान ने एक क़दम और आगे बढ़ा दिया है.

फ़िल्म के आखिरी सीन की शूटिंग ऐसी लोकेशन पर थी जहां पहुंचने के लिए पूरी कास्ट को बर्फ़ में एक घंटे तक चलना पड़ता था.

निर्देशक कबीर ख़ान ने अख़बार एचटी कैफ़े को बताया, "हमने आखिरी सीन की शूटिंग सोनमर्ग के थाजीवास ग्लेशियर में की जहां जाने के लिए फ़िल्म की मुख्य कास्ट के साथ करीब 300 लोगों की यूनिट को हर सुबह बर्फ़ में पैदल करीब एक किलोमीटर तक चलना होता था."

कबीर बताते हैं, "ये निर्माताओं के लिए बड़ा चैलेंज था क्योंकि सभी लोगों के आने जाने का प्रबंध और अक्सर आ जाने वाले बर्फ़ीले तूफ़ानों के बीच में शूटिंग बेहद मुश्किल काम था."

निर्माता सलमान

इमेज कॉपीरइट salman khan

सलमान ख़ान इस फ़िल्म से निर्माता भी बनने वाले हैं और उनकी कंपनी 'सलमान ख़ान फ़िल्म्स' के सह निर्माता अमर बुटाला इस क्लाईमैक्स से बेहद खुश हैं.

वो कहते हैं, "निर्माता होने के नाते ये काफ़ी मुश्किल और खर्चीला था लेकिन इस शूटिंग का जो ख़ूबसूरत नतीजा निकल कर आया है वो शानदार और भव्य है."

फ़िल्म बजरंगी भाईजान इस साल ईद के मौके पर रिलीज़ होने वाली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार