मुझे अपनी कोई फिल्म पसंद नहीं: अभिषेक

इमेज कॉपीरइट raindrop media

इन दिनों अपनी कबड्डी टीम को लेकर लगातार छोटे पर्दे पर दिखाई दे रहे अभिषेक बच्चन जल्‍द ही उमेश शुक्‍ला की ‘ऑल इज़ वेल’ के साथ सिल्‍वर स्‍क्रीन पर भी नज़र आएंगे.

साल 2010 में रिलीज़ हुई 'खेलें हम जी जान से' अभिषेक की बतौर सोलो हीरो आखिरी फ़िल्म थी और अब पांच साल बाद सोलो हीरो के तौर पर उनकी फिल्म आ रही है.

बीबीसी से हुई बातचीत में अभिषेक ने बताया कि उनके लिए ये फिल्म बहुत अहम है.

हर असफलता से सीखा

फ़िल्‍म इंडस्‍ट्री में अभ‍िषेक को आए पंद्रह वर्ष हो गए हैं और इस दौरान कई फ़ि‍ल्‍में उनके खाते में आई हैं.

लेक‍िन अभ‍िषेक की मानें तो उन्‍हें अपनी अब तक की कोई फ़ि‍ल्‍म पसंद नहीं है.

वे कहते हैं, “मुझे मेरी कोई भी फ़िल्‍म पसंद नहीं है. जब भी मैं दोबारा देखता हूं, तो लगता है कि इस सीन को और अच्‍छी तरह से कर सकता था.”

अपनी असफल फ़िल्‍मों के बारे में अभिषेक कहते हैं, “हर असफल फ़ि‍ल्‍म से मैंने काफ़ी कुछ सीखा है लेकिन हां मैंने अब तक जितनी भी फ़ि‍ल्‍में की हैं, उन्‍हें लेकर कोई अफ़सोस नहीं है.”

अभ‍िषेक अपने करियर से ख़ुश हैं और ख़ुद को खुशनसीब मानते हुए कहते हैं कि‍ ऐसे बहुत कम लोग हैं जो इतने साल तक इंडस्‍ट्री में काम कर पाते हैं.

'बच्‍चन' होने का नुकसान नहीं

इमेज कॉपीरइट amitabh bachhan

अभ‍िषेक का मानना है कि अगर आप किसी जाने माने अभिनेता या निर्माता, निर्देशक की संतान हैं तो इंडस्‍ट्री में आना ज़्यादा आसान हो जाता है.

अभिषेक ने कहा, "आपके माता पिता से जुड़े नोस्टालजिया के चलते दर्शक आपको देखना चाहते हैं लेकिन आप पर दबाव भी बेहद होता है."

अपने पिता के नाम का दबाव होने के सवाल पर अभिषेक कहते हैं, "नहीं, मुझे किसी क़िस्‍म का दबाव कभी महसूस नहीं हुआ है, और ना ही मुझे इससे कोई नुक़सान पहुंचा है.”

अभिषेक अपने पिता को इस पीढ़ी का सबसे उम्‍दा अभ‍िनेता मानते हैं और जल्द ही 'शमिताभ' के बाद अपनी कंपनी एबीसीएल के बैनर तले एक और फ़िल्म लाने वाले हैं जिसकी स्क्रिप्ट पर काम चल रहा है.

न ऐश, न अजय

इमेज कॉपीरइट AP

अभिषेक आजकल कबड्डी लीग में भी काफ़ी व्यस्त हैं और इसी दौरान जयपुर में वो एक मैच के दौरान अजय देवगन के साथ नज़र आए थे.

इसके बाद अटकलें लगने लगीं कि दोनों साथ में कोई फ़ि‍ल्‍म करने जा रहे हैं लेक‍िन इस बात को वो सिरे से नकारते हुए बोले, “नहीं, हम दोनों फ‍़िलहाल किसी फ़िल्‍म में काम नहीं कर रहे हैं. अजय जयपुर में सिर्फ़ मैच देखने आए थे.”

वहीं ऐश्‍वर्या के साथ किसी फ़िल्‍म में नज़र आने की बात पर वो कहते हैं, “रावण या गुरू जैसी किसी अच्‍छी स्‍क्र‍िप्‍ट का इंतज़ार है. हम साथ काम करने को तैयार हैं, बस कहानी हम दोनों को पसंद आनी चाहिए.”

वैसे यह महीना ऐश्‍वर्या और अभ‍िषेक दोनों के लिए ख़ास है क्योंकि इस महीने अभ‍िषेक की ‘ऑल इज़ वेल’ रिलीज़ होगी और साथ ही ऐश्‍वर्या की कमबैक फ़ि‍ल्‍म ‘जज्‍़बा’ का ट्रेलर भी लॉन्‍च किया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार