'हॉलीवुड में बिना एजेंट के टिक नहीं सकते'

बॉलीवुड के साथ हॉलीवुड में भी शोहरत कमाने वाले अभिनेता इरफ़ान ख़ान मानते हैं कि हॉलीवुड में रोल पाने के लिए एजेंट की मदद लेनी ही पड़ती है.

हाल ही में मेघना गुलज़ार द्वारा निर्देशित और चर्चित फ़िल्म 'तलवार' का ट्रेलर लॉन्च हुआ है.

इस मौके पर इरफ़ान खान ने पत्रकारों को बताया, "कुछ साल पहले तक मुझे हॉलीवुड से काम नहीं मिलता था, लेकिन अब एजेंट की मदद से काम मिलने लगा है."

उन्होंने बताया, "लेकिन एजेंट होने का यह मतलब नहीं है कि आपको काम मिलने लग जाएगा. एजेंट सिर्फ एक माध्यम का काम करता है, काम आपके टैलेंट से ही मिलता है."

इरफ़ान के मुताबिक हॉलीवुड में अगर किसी अभिनेता को काम चाहिए तो ये काम आपका एजेंट ही कर सकता है, यही नियम है.

आरुषि हत्याकांड

इमेज कॉपीरइट AP

2008 में उत्तर प्रदेश के नोएडा में 14 साल की आरुषि तलवार और नौकर हेमराज की हत्या पर यह फ़िल्म आधारित है. इस हत्याकांड की गुत्थी अभी भी सुलझी नहीं है,

निर्माता निर्देशक मेघना गुलज़ार इस फ़िल्म में आरुषि हत्या और उससे जुड़ी पुलिस व अदालती कारर्वाई को पेश करने की कोशिश करती नज़र आ रही हैं.

इरफ़ान ने इस फ़िल्म का हिस्सा क्यों बने?

इस सवाल के जवाब में इरफान कहते हैं, "मैंने इस फ़िल्म को चुना क्योंकि मुझे लगता है बतौर इंसान सच्चाई का पता लगाना हमारा फर्ज बनता है. वरना तो हम एक मुर्दे के समान हैं, बल्कि उससे भी बदतर."

लेकिन क्या फ़िल्म अंत में किसी निष्कर्ष पर पहुंचती हैं? तंज भरे अंदाज में इरफ़ान कहते हैं कि यह तो ट्रेलर है अभी फ़िल्म आनी बाकी है.

हालांकि इससे पहले भी आरुषि हत्याकांड पर आधारित एक फ़िल्म रहस्य बन चुकी है लेकिन 'तलवार' ज्यादा चर्चित फ़िल्म है.

इस फ़िल्म में इरफ़ान के अलावा निर्देशक मेघना गुलज़ार, पटकथा लेखक विशाल भारद्वाज और बतौर गीतकार गुलज़ार के नाम जुड़े हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार