ये हैं बॉलीवुड के 'शिक्षक'

हम सब की ज़िंदगी में शिक्षकों का बहुत महत्व होता हैं.

5 सितंबर को भारत में शिक्षक दिवस के रुप में मनाया जाता है और ऐसे में बीबीसी लाया है ऐसी फ़िल्मी शिक्षकों की लिस्ट जिसमें शायद आप अपने शिक्षक को भी ढूंढ लें.

फ़िल्मी शिक्षक

इमेज कॉपीरइट spice

बॉलीवुड फ़िल्मों ने शिक्षकों को समय के साथ अपने ढंग से एक नया चेहरा देने की कोशिश की है.

फिर वो चाहे 1954 की फ़िल्म 'जागृति' के शिक्षक अभि भट्टाचार्य हो या 'पड़ोसन' फ़िल्म के म्यूज़िक टीचर महमूद.

'3 इडियट्‌स' के वायरस बोमन ईरानी हों या 'श्री 420' की शिक्षिका नरगिस या 'मैं हूं ना' की ग्लैमरस टीचर सुष्मिता सेन, शिक्षकों के हर रूप को पर्दे पर उतारा गया है.

सुधारवादी शिक्षक

60 के दशक के सुधारवादी शिक्षक बने अभिनेता दिलीप कुमार, जिन्होंने 1964 में फ़िल्म 'लीडर' में एक ऐसे शिक्षक का किरदार निभाया जो अपने माता-पिता की इच्छा के ख़िलाफ़ जाते हुए अपने छात्रों की मदद करते हैं.

ये क़िरदार आज भी एक आदर्शवादी शिक्षकों का चेहरा बना हुआ है.

संगीतमय शिक्षक

इमेज कॉपीरइट UTV

70 के दशक में आया म्यूज़िक टीचर्स का दौर जो फ़िल्म 'गोलमाल' (1979) में अमोल पालेकर और परिचय (1972) में जीतेंद्र ने बख़ूबी निभाया.

जहां 'गोलमाल' फ़िल्म में अमोल पालेकर अपनी नौकरी बचाने के लिए उत्पल दत्त की बेटी को संगीत सिखाते हैं, वहीं जीतेंद्र 'ऑल सब्जेक्ट' शिक्षक होते हैं लेकिन सुरीले.

जीतेंद्र पर फ़िल्माया और किशोर का गाया गीत 'मुसाफ़िर हूं यारो' आज भी सुपरहिट गानों में से एक है.

रोमांटिक शिक्षक

इमेज कॉपीरइट bhupen rasin

80 के दशक में आया रोमांटिक शिक्षकों का दौर और इसकी शुरुआत हुई फ़िल्म 'मास्टरजी' (1985) से.

इस फ़िल्म में राजेश खन्ना ने एक बेहद प्यार करने वाले पति और ईमानदार टीचर का किरदार निभाया था.

इस फ़िल्म में राजेश खन्ना की प्रेमिका बनी थी अभिनेत्री श्रीदेवी और फ़िल्म 'मास्टरजी' एक रोमांटिक कॉमेडी फ़िल्म थी जो बेहद पसंद की गई.

इस फ़ेहरिस्त में ऋषिकेश मुखर्जी की फ़िल्म चोरी चोरी के धर्मेंद्र और अमिताभ का नाम भी लिया जा सकता है.

मॉडर्न शिक्षक

इमेज कॉपीरइट colors

90 के दशक में आया मॉर्डन टीचर्स का दौर और इस दौर की अगुवाई की अनिल कपूर ने फ़िल्म 'अंदाज़' (1994) से, जहां छात्रा करिश्मा कपूर को अपने ही टीचर से प्यार हो जाता है.

1993 में आई फ़िल्म 'सर' में नसीरुद्दीन शाह ने भी एक ऐसे ही शिक्षक का किरदार निभाया जो अपने छात्रों को प्यार का पाठ सिखने में कामयाब हो जाते हैं और वो बन जाते हैं एक मॉर्डन टीचर.

क्रांतिकारी शिक्षक

साल 2000 में फ़िल्म 'मोहब्बतें' में शाहरुख़ ख़ान, प्रधानाचार्य अमिताभ के उसूलों के ख़िलाफ़ क्रांति ही लाते हैं.

इसके अलावा 'ब्लैक' का वर्जनाओं को तोड़ने वाला शिक्षक, 'तारे ज़मीन पर' में सिस्टम को चुनौती देने वाला शिक्षक ये सभी क़िरदार एक क्रांति लाने की कोशिश में थे.

वैसे शिक्षक के तौर पर सबसे ज्यादा यादगार क़िरदार निभाने वाले अमिताभ बच्चन ही कहे जा सकते हैं जो 'चोरी चोरी', 'मोहब्बतें', 'ब्लैक', 'दो और दो चार', 'कस्मे वादे', और आरक्षण जैसी फ़िल्मों में शिक्षक बने.

हालांकि आपका पसंदीदा शिक्षक कौन है हमारे फ़ेसबुक पेज पर ज़रूर बताइएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार