'कपिल नख़रे नहीं करता, लेट होता है'

हर दिल अजीज़ और हरफ़नमौला हास्य कलाकार कपिल शर्मा अब हीरो बन गए हैं और उनकी पहली फ़िल्म 'किस किस को प्यार करूं' रिलीज़ के लिए तैयार है.

अक्सर अपने टीवी धारावाहिक 'कॉमेडी नाईट्स' पर दूसरों की फ़िल्म का प्रमोशन करने वाले कपिल आजकल अपनी ही फ़िल्म का प्रमोशन करने में लगे हैं.

लेकिन कैमरा के सामने हीरो बन कर आ रहे कपिल कैमरा के सामना करने पर कितने नर्वस थे और अब जब वो ख़ुद 'हीरो' के तौर पर बॉलीवुड में खड़े हैं तो क्या उनमें स्टार के नख़रे आ गए हैं?

इस बात को फ़िल्म की निर्देशक जोड़ी अब्बास मस्तान से बेहतर कौन बता सकता था, अब्बास मस्तान से ख़ास बातचीत की बीबीसी हिंदी ने, पेश हैं उसी बातचीत के मुख्य अंश.

कपिल के नख़रे

इमेज कॉपीरइट united seven

स्टार कलाकारों के नख़रे काफ़ी मशहूर होते हैं, किसी स्टार को लेट आने की आदत होती है, कोई स्टार मूड आने पर शूट करता है.

क्या कपिल भी ऐसे नख़रे करते हैं? अब्बास मस्तान कहते हैं, "नहीं, वो नख़रे वाला तो नहीं लगा लेकिन कई बार सेट पर लेट आया है और इसके लिए वो ख़ुद ही शर्मिंदा थे."

वो मानते हैं कि कपिल के 'टैंट्रम' के बारे में उन्होंने भी सुना था लेकिन फ़िल्म के दौरान वो सीधे ही लगे साथ ही वो जोड़ते हैं कि अगर कपिल ये फ़िल्म नहीं करते तो वो यह फ़िल्म नहीं बनाते.

कपिल ही क्यों?

इमेज कॉपीरइट KIS KISKO PYAR KAROON

कई लोगों को ऐसा लग रहा है कि यह फ़िल्म कपिल को लॉंच करने के लिए बनाई गई है लेकिन अब्बास मस्तान इस बात से इंकार करते हैं.

वो कहते हैं, "हमारे पास यह कहानी थी लेकिन कोई कलाकार फ़िट नहीं बैठ रहा था, फिर कपिल को देखने के बाद हमने लेखक को कपिल को मनाने भेजा."

इस फ़िल्म पर काफ़ी अर्से से काम चल रहा था और फ़िल्म की शूटिंग पिछले साल यानी 2014 में ही शुरू हुई थी.

एफ़टीआईआई

बाज़ीगर, हमराज़ और खिलाड़ी जैसी फ़िल्में बनाने वाले जाने माने निर्देशक अब्बास मस्तान की जोड़ी मानती है कि ये मुद्दा कुछ ग़लत मोड़ ले गया है.

उनके अनुसार, "यह एक शैक्षणिक संस्थान का अंदरूनी मामला था जिसे शांति से सुलझाया जा सकता था लेकिन कुछ खींचातानी में बात ज़्यादा ही खिंच गई."

गजेंद्र चौहान कि नियुक्ति पर सीधे तौर पर टिप्पणी करने से बचते हुए वो कहते हैं, "सरकार को चाहिए कि वो किसी ऐसे आदमी को अध्यक्ष बनाए जिसकी बात छात्र सुनें."

साल 2013 में 'रेस 2' बनाने वाले अब्बास मस्तान अब इस फ़िल्म से वापसी कर रहे हैं और आमतौर पर रोमांच और सस्पेंस से भरी फ़िल्में बनाने वाली यह जोड़ी 1999 में 'बादशाह' के बाद अब कोई कॉमेडी फ़िल्म लेकर आ रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार