जिनके संग देव, राज और प्राण उतरे पर्दे पर

कामिनी कौशल इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

40 और 50 की दशक की मशहूर अभिनेत्री कामिनी कौशल 88 साल की हैं और मुंबई के मालाबार हिल इलाके में रहती हैं.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

कभी किसी ज़माने में रेडियो, फ़िल्मों और नाटकों की लंबी लंबी स्क्रिप्ट याद कर लेने वाली कामिनी अब 10 मिनट पहले की गई बात भूल जाती हैं.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

उम्र ने भले ही उनके शरीर और याद्दाश्त को नुकसान पहुंचाया हो लेकिन वो अभी अपने सुनहरे दिनों को भूली नहीं हैं और ये कैसे भुलाया जा सकता है कि यही वो अभिनेत्री थीं जिनके साथ प्राण, राज कपूर और देव आनंद ने अपनी पहली फ़िल्म की थी.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

ऐसा अब कम ही देखा जाता है कि किसी फ़िल्म में अभिनेत्री का नाम हीरो के नाम से पहले आए लेकिन 40 के दशक में कामिनी कौशल की फ़िल्मों में उनका नाम हीरो से पहले आता था.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

कामिनी के करियर से कई ऐसी चीज़ें जुड़ी हैं जो पहली बार हुईं और उसमें एक बड़ी बात थी लता मंगेशकर के करियर की शुरुआत.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

कामिनी कौशल ही वो अभिनेत्री थी जिनके लिए लता ने पहली बार किसी मुख़्य अभिनेत्री के लिए पार्श्व गायन किया था.

देव आनंद जो आगे चलकर कामिनी कौशल के अच्छे दोस्त बने.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

उनके बारे में कामिनी कहती हैं, "वो बेहद शर्मीला था, इतना कि सेट पर बात ही नहीं करता था और उसके फ़ैन्स को यह बात मालूम नहीं थी."

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

जितेंद्र के बारे में याद करते हुए वो कहती हैं, "वो एनर्जी से भरा हुआ था, जंपिंग जैक के नाम को सार्थक करता हुआ जब भी वो आसपास होता माहौल में जोश रहता था."

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

कभी टॉप अभिनेत्री रहीं कामिनी कौशल ने एक वक़्त बाद अभिनय से ब्रेक ले लिया और वे ऑल इंडिया रेडियो, दूरदर्शन के साथ मिलकर बच्चों के लिए कठपुतली और कहानियों के कार्यक्रम बनाने लगीं.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

बच्चों के लिए बनाए गए उनके कार्यक्रम की सीरीज़ 'चांद सितारे' को दूरदर्शन पर प्रदर्शित किया गया और उनकी बाल कहानियां 'पराग' मैग़ज़ीन में प्रकाशित हुईं.

राज कपूर की फ़िल्म 'आग' में उन्होंने नरगिस के साथ मुख्य अभिनेत्री का रोल निभाया.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

राज कपूर को याद करते हुए वो कहती हैं, "वो एक शानदार व्यक्तित्व के स्वामी थे और उनका एक करिश्मा था जो उन्हें हीरो बनाता था."

कपूर खानदान की क़रीबी रहीं कामिनी कौशल ने एक बार खिलौनों की दुकान लगाई थी और अभिनेता शशि कपूर ने वहां से कई खिलौने खरीदे थे, रील लाईफ़ में नहीं रीयल लाईफ़ में.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

फ़िल्म 'नदिया के पार' को याद करते हुए कामिनी कहती हैं, "इस फ़िल्म में मुझे एक साड़ी पहननी थी जिसमें मेरे कंधे दिखने थे, मैंने मना कर दिया कि ये तो बहुत हो जाएगा लेकिन फिर मेरे पति के कहने पर मैंने वो साड़ी पहनी."

कामिनी को बहुत दुख है कि अब उनके अभिनय वाली 'नदिया के पार' को कोई टीवी पर नहीं दिखाता लेकिन सचिन वाली 'नदिया के पार' आती रहती है.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

1946 में अपनी पहली फ़िल्म 'नीचा नगर' के लिए कान्स फ़िल्म समारोह में प्रतिष्ठित गोल्डन पाम अवार्ड जीतने वाली कामिनी को उनकी दूसरी फ़िल्म 'बिराज बहू' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फ़िल्म फ़ेयर अवॉर्ड भी मिला.

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

दिलीप कुमार के साथ सुपरहिट जोड़ी सुपरहिट होने के बाद उन्होंने मनोज कुमार के साथ 8 फ़िल्में कीं.

वो बताती हैं, "अगर आप मुझसे पूछेंगे कि मेरा कोई इंडस्ट्री में दोस्त है तो मैं कहूंगी हाँ, मनोज कुमार."

इमेज कॉपीरइट KAMINI KAUSHAL

तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के सामने कई कार्यक्रमों की प्रस्तुति कर चुकीं कामिनी के अभिनय और ख़ासकर बाल कहानियों को इंदिरा गांधी ने काफ़ी सराहा था.

साल 2015 में फ़िल्म फ़ेयर की ओर से उन्हें लाइफ़ टाईम अचीवमेंट अवार्ड दिया गया है और वो आज भी कैमरे के सामने एक्शन बोलते ही अभिनय करना भूली नहीं हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार