फ़िल्मों से दूरी नहीं महसूस की: ऐश्वर्या

अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन पांच साल के बाद निर्देशक संजय गुप्ता की फ़िल्म 'जज़्बा' में नज़र आएंगी.

लेकिन ऐश ना तो इस फ़िल्म को अपनी कमबैक मानती हैं और ना ही इन पांच सालों में सिने पर्दे से दूरी की बात को सही मानती हैं.

ऐश्वर्या ने आगामी फ़िल्म और निजी ज़िंदगी के बारे में बीबीसी से बात की.

रियल मां

इमेज कॉपीरइट image smiths

संजय गुप्ता के निर्देशन में बनी फ़िल्म 'जज़्बा' में वे एक माँ की भूमिका में नज़र आएंगी.

अपनी भूमिका और पांच साल बाद की वापसी पर वो कहती हैं, "फ़िल्म में मैं एक माँ की भूमिका निभा रही हूँ और असल ज़िंदगी में माँ बनने के बाद मैं इस किरदार को और भी क़रीब से समझ सकी."

वो कहती हैं, "मैं पाँच सालों से फ़िल्म नहीं कर रही थी, लेकिन विज्ञापन तो कर ही रही थी और स्क्रिप्ट भी सुन रही थी, यही वजह है कि मैंने फ़िल्मों से कभी दूरी महसूस नहीं की."

मैं 'मल्टी टास्कर' हूँ

ऐश्वर्या से जब काम के साथ निजी जीवन में संतुलन बैठाने का सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, "मुझे क़रीब से जानने वाले लोगों ने मुझे मल्टी टास्कर ख़िताब दिया है."

वे आगे कहती हैं, "जब मैं अपने करियर के शिखर पर थी, तभी मैंने शादी कर ली. अभिनेत्री के साथ पत्नी, बहू की भी ज़िम्मेदारी एक साथ निभाई."

शादी के बाद ऐश्वर्या की पहली फ़िल्म 'जोधा अकबर' थी जो कामयाब रही, लेकिन वर्ष 2010 में आई फ़िल्म 'गुज़ारिश' बॉक्स ऑफ़िस पर कुछ ख़ास कमाल नहीं दिखा पाई.

परिवार

इमेज कॉपीरइट Amitabh PR

एक ओर जहां अभिषेक बच्चन, अमिताभ बच्चन सहित कई बड़ी फ़िल्मी हस्तियां सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं वहीं ऐश्वर्या को इस माध्यम से दूरी में ही भलाई लगती है.

वो कहती हैं, "मैं सोशल मीडिया के प्रभाव और ताक़त को अच्छी तरह से समझती हूँ. शुरू में मुझे ये फ़ैशन की तरह ही लगा था लेकिन अब दिखावा हो गया है, कुछ लोग तो शॉपिंग से लेकर खाने तक की बातें भी अपडेट कर देते हैं ऐसे में मैं इस ट्रेंड से दूर ही सही.''

इमेज कॉपीरइट Getty

सोशल मीडिया की ताक़त को ऐश कम नहीं मानतीं लेकिन अपनी निजी ज़िंदगी को वो सार्वजानिक नहीं करना चाहतीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार