क्या बिग बॉस का 'डबल ट्रबल' होगा फेल?

टेलीव‍िज़न रिएलिटी शो 'बिग बॉस' का नौंवा सीज़न शुरू हो चुका है और साथ ही एक नई बहस भी शुरू हो गई है.

यह बहस इस बार शो में शाम‍िल हुए प्रत‍ियोगियों को लेकर हैं.

इस बार के प्रत‍िभाग‍ियों में से अधिकतर को आम दर्शक नहीं जानते, साथ ही हर बार से अलग इस बार अध‍िकतर प्रत‍ियोगी अभ‍िनय के क्षेत्र से ही हैं.

'बिग बॉस 9' के प्रत‍ियोग‍ियों के चयन और फॉर्मेट को लेकर पिछले सीज़न के वि‍जेताओं से बीबीसी ने की ख़ास बातचीत.

अभी तक शो में एक 'एलिमीनेशन' हो चुका है जिसमे टीवी अभिनेता अंक‍ित गेरा घर से बाहर जा चुके हैं. शो की टीआरपी को बढ़ाने के लिए निर्माता नए हथकंडे अपना रहे हैं.

बड़े ही नाटकीय तरीके से शो की ईनाम राशि भी घटा दी गई.

'बिग बॉस 8' के व‍िजेता गौतम गुलाटी इस शो को न पहले देखते थे और न ही अब देखते हैं. लेक‍िन प्रत‍िभाग‍ियों के चयन को लेकर वो भी हैरान हैं.

वे कहते हैं, "जब मेरा चयन हुआ था, तो उस सीज़न में मैं ही सबसे कम मशहूर चेहरा था. यहां तक कि मेरे दोस्‍तों ने भी कहा कि मेरा चयन होना भी बहुत बड़ी बात है."

प्रत‍ियोगी के चयन को लेकर वे कहते हैं, "इस बार तो ज्‍़यादातर लोगों को कोई नहीं जानता. हो सकता है चैनल की कुछ अलग करने की योजना हो."

वहीं वरिष्ठ टीवी पत्रकार श्राबंती चक्रवर्ती भी 'डबल ट्रबल' को 'बिग बॉस' के अन्य सीज़न के मुकाबले ठंडा बताती हैं.

वो कहती हैं, ''देखा जाए तो साल दर साल इसमें शामिल होने वाले लोगों के चयन का स्तर गिरता जा रहा है''.

इस वर्ष के संस्करण के बारे में वे कहती हैं, ''ऐसे में अगर जल्दी किसी अच्छे प्रतियोगी की 'वाइल्ड कार्ड' एंट्री नहीं होती है, तो यह सीज़न नीरस सा होने वाला है.''

इमेज कॉपीरइट colors

'बिग बॉस 6' की विजेता रही उर्वशी ढोलक‍िया इस शो की फॉलोवर हैं. वे कहती हैं, "मैं इसे कभी म‍िस नहीं करती".

जब उनसे प्रत‍िभाग‍ियों के बारे में पूछा, तो वे बोलीं, "इस बार के सभी प्रतियोगी लगभग एक ही तरह के हैं, वे सभी अभिनेता है और अजीब बात है कि उन्हें कोई नहीं जानता."

वही गौतम गुलाटी तो इस शो के प्रत‍िभाग‍ियों को देखकर शो के फेल होने की बात भी कहते हैं.

उन्‍होंने कहा, "मेरे दोस्‍त इस शो को देखते हैं, जिससे मैं अपडेट हो ही जाता हूं. मेरी जानकारी के मुताबिक तो 'डबल ट्रबल' फेल होने वाला है".

इसके फेल होने की वजह बताते हुए कहते हैं कि इस बार जोड़ियां ज्‍़यादा हैं इसलिए 'तमाशा' भी ज्‍़यादा होगा.

वहीं उर्वशी कहती हैं कि बाक़ी सीज़न की तरह यह मज़ेदार नहीं है लेकिन उन्हें आने वाले समय में शो के बेहतर होने की उम्मीद है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार