अब भी क़ानून के फंदे से बाहर नहीं सलमान

सलमान ख़ान

13 साल चले मुंबई के 'हिट एंड रन' केस में अभिनेता सलमान ख़ान भले बरी हो गए हों लेकिन अभी भी गिरफ़्तारी की तलवार उन पर लटक रही है.

दरअसल 'हिट एंड रन' केस अकेला मामला नहीं है, जिसमें सलमान ख़ान फंसे हों.

वह क़ानूनी और निजी विवादों में भी घिरे रहे हैं.

ऐसे कुछ मामलों पर एक नज़र

1. सलमान पर 1998 में राजस्थान में फ़िल्म 'हम साथ साथ हैं' की शूटिंग के दौरान प्रतिबंधित काले हिरण के शिकार के आरोप हैं. इसे लेकर उन चार केस दर्ज हैं.

पहला केस 26 सितंबर 1998 का है, जिसमें जोधपुर के पास भवाद इलाक़े में काले हिरण के शिकार का दोषी क़रार देते हुए निचली अदालत ने सलमान को एक साल की सज़ा सुनाई थी. इसे कम मानते हुए राज्य सरकार ने सलमान की सज़ा बढ़ाने के लिए उच्च न्यायालय में अपील की है. मामले की सुनवाई जारी है.

2. दूसरा केस 28 सितंबर 1998 को घोड़ा फ़ॉर्महाउस नामक जगह का है, जहां सलमान पर दूसरी बार काले हिरण के शिकार का आरोप लगे.

इस मामले में सलमान को निचली अदालत ने पांच साल की सज़ा सुनाई थी, जिसे सलमान ने उच्च न्यायालय में चुनौती दी. इस पर सुनवाई जल्द शुरू होगी.

इमेज कॉपीरइट EPA

3. तीसरा मामला कांकाणी इलाक़े में शिकार का है, जिस पर निचली अदालत में सुनवाई जारी है.

4. उपर लिखे तीनों मामलों में सलमान पर आर्म्स एक्ट के तहत भी केस चल रहा है.

उन पर आरोप है कि उन्होंने हथियारों के लाईसेंस की मियाद ख़त्म होने के बावजूद हथियार रखे और उनका इस्तेमाल भी किया.

इनके अलावा भी सलमान का नाम कई विवादों में आया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

सलमान पर निर्माता-निर्देशक सुभाष घई को थप्पड़ मारने के आरोप लगे थे जिसके बाद उन्होंने सार्वजनिक माफ़ी भी मांगी थी.

इसके अलावा कोर्ट परिसर में पत्रकारों से झड़प, विवेक ओबेराय को धमकी देने और फ़िल्म 'चलते चलते' के सेट पर अभिनेत्री ऐश्वर्या राय से कथित मारपीट के विवाद भी उठे.

हालांकि ये मामले अदालत नहीं पहुँचे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार