'लगता है अपना फ़ेक ट्विटर अकाउंट बना लूं'

इमेज कॉपीरइट Swara Bhaskar

कुछ दिनों पहले जेएनयू विवाद पर अपनी राय रखने के लिए विरोध झेल चुकी अभिनेत्री का कहना है कि जेएनयू मामले पर बोलने पर मेरे दोस्‍तों ने मुझे सचेत किया था कि मुझे फ़िल्में मिलनी बंद हो सकतीं हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

'तनु वेड्स मनु' और 'प्रेम रतन धन पायो' समेत कई फ़िल्‍मों में अपनी अदाकारी का लोहा मनवाने वाली स्‍वरा भास्‍कर अपने विचारों को खुलकर व्‍यक्‍त करने के लिए भी जानी जाती हैं.

कुछ महीनों पहले ही हुए जेएनयू विवाद में 'खुला खत' भी उन्‍होंने लिखा था, जिसके बाद सभी सोशल नेटवर्किंग साइट पर उनका जमकर विरोध भी हुआ.

इमेज कॉपीरइट raindrop

इस मामले पर स्‍वरा कहती हैं, "कई बार लगता है कि अपना फेक ट्व‍िटर अकाउंट बना लूं और वहां अपने विचार लिखूं."

दोस्‍तों ने भी स्‍वरा को उनके मतों को इस तरह व्‍यक्‍त न करने की हिदायत दी है. इस बारे में स्‍वरा कहती हैं कि मेरे दोस्‍तों ने मुझसे कहा कि यदि तुम अपना 'करियर सुसाइड' नहीं करना चाहती, तो ऐसी फिज़ूल की बातों में मत पड़ो.

स्‍वरा अपने फ़ैसले के बारे में बताती हैं कि इसके बाद मुझे भी समझ आया कि फ़ि‍ल्‍म में मेरा पैसा नहीं लगता है और उसकी कामयाबी से सिर्फ़ मेरा ही भविष्‍य नहीं जुड़ा है.

इसलिए सबकी भलाई के लिए फ़ि‍ल्‍म के रिलीज़ होने तक मैं किसी भी विवाद में नहीं बोलूंगी.

स्‍वरा की आगामी फ़ि‍ल्‍म 'निल बट्टे सन्‍नाटा' है और इसमें वो चौदह साल की लड़की की मां की भूमिका में है. करियर के इस पड़ाव पर मां का किरदार करने का फ़ैसला क्‍यों ल‍िया?

इस बारे में स्‍वरा ने कहा, "दरअसल, इस फ़ि‍ल्‍म की निर्देशक अश्विनी अय्यर तिवारी ने जब मुझे यह प्रस्‍ताव दिया, तो मैंने मना करने के लिए ही स्क्रिप्‍ट को पढ़ने की हामी भरी, लेकि‍न कहानी पढ़ने के बाद किरदार प्रभावी लगा और मैंने फ़ि‍ल्‍म के लिए हां कर दिया."

इमेज कॉपीरइट Raindrop

स्वरा का बॉलीवुड करियर बड़ा उतार चढ़ाव वाला रहा.

इस बात पर वे कहती हैं,"मेरी कमर्शियल फ़ि‍ल्‍मों की भूमिका पर कभी कैंची नहीं चलाई गई, लेकिन लीड एक्‍ट्रेस वाली फ़ि‍ल्‍मों के पीछे बैनर भी छोटे होते हैं. ऐसे में फ़ि‍ल्‍म वितरकों को ज़्यादा से ज़्यादा स्‍क्रीन के लिए मना पाना मुश्किल होता है."

वे अपनी पहचान पर खुशी जताते हुए कहती हैं कि वैसे कमर्शियल सिनेमा की साइड एक्‍ट्रेस की भूमिका की वजह से लोग मुझे पहचानते हैं और ऑटोग्राफ से लेकर फोटोग्राफ लेते हैं.

अब रही बात दूसरे किरदारों की तो उस पर वे कहती हैं, "मैं हमेशा ऐसे किरदार करती रहूंगी, जिनमें मुझे चुनौती मिलती है मैं अच्‍छी अभिनेत्री के रूप में अपनी पहचान बनाना चाहती हूं, न कि बेसिर पैर की भूमिका करके मशहूर अभिनेत्री के रूप में खुद को स्‍थापित करना चाहती हूं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार