इरफ़ान की इन बातों से आती है तनातनी की बू!

बॉलीवुड में अपनी एक्टिंग से एक अलग जगह बनाने वाले इरफ़ान इन दिनों अपनी फ़िल्म 'मदारी' और हॉलीवुड फ़िल्म 'इन्फ़र्नो' को लेकर चर्चा में है.

फ़िल्म 'मदारी' के ट्रेलर लॉन्च पर इरफ़ान ख़ान ने बीबीसी से ख़ास बातचीत के दौरान अपनी फ़िल्म के अलावा इंडस्ट्री के दूसरे अभिनेताओं के बारे में अपने विचार भी रखे.

इरफ़ान ने अपने हॉलीवुड कनेक्शन पर बात करते हुए बताया की बॉलीवुड में काम करने से कहीं ज़्यादा मुश्किल वहां काम करना है.

भारत से प्रियंका चोपड़ा के अलावा सिर्फ़ इरफ़ान हैं जिन्हें लगातार हॉलीवुड फ़िल्मों में काम मिल रहा है.

वो कहते हैं, "वहां बहुत कुछ आपके एजेंट्स पर निर्भर करता है और कई बार आप टैलेंटेड हैं तो भी आपको काम के लिए इंतज़ार करना पड़ सकता है क्योंकि आप ऐसे ही, जान पहचान से कहीं नहीं घुस सकते."

अपने करियर के शुरुआती दिनों से ही विश्व सिनेमा से जुड़े इरफ़ान ने 'द नेमसेक', 'स्लम डॉग मिलेनियर', 'स्पाइडर मैन', 'लाइफ़ ऑफ़ पाई' और 'जुरासिक वर्ल्ड' जैसी दर्ज़न भर फ़िल्मों का हिस्सा रहे हैं और अब वो हॉलीवुड के मशहूर अभिनेता टॉम हैंक्स के साथ 'इन्फ़र्नो' फ़िल्म में भी नज़र आएंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP

अपने अलावा प्रियंका चोपड़ा के हॉलीवुड जाने के सवाल पर इरफ़ान कहते हैं, "प्रियंका बहुत ही गुणी अभिनेत्री हैं और जितने कम समय में प्रियंका ने हॉलीवुड में अपनी जगह बनाई है वो क़ाबिले तारीफ़ है."

वो आगे कहते हैं, "प्रियंका शोहरत की जिस बुलंदी पर हैं वें उससे अधिक के लायक़ हैं और आप कुछ भी सोचें लेकिन सच यह हैं कि वो टैलेंटड और डिज़र्विंग है इसलिए वहां हैं."

इरफ़ान की हिंदी फ़िल्म 'मदारी' के ट्रेलर से एक दिन पहले ही नवाज़ुद्दीन की फ़िल्म 'रमन राघव 2.0' का ट्रेलर रीलीज़ हुआ है.

इन दोनों ही अभिनेताओं की आपस में बनती नहीं है औऱ इसलिए नवाज़ के बारे में पूछे गए सवाल पर वो असहज हो गए.

नवाज़ की कौन सी फ़िल्म उन्हें सबसे ज़्यादा पसंद है इस सवाल पर इरफ़ान ने कहा, "लंचबॉक्स, और इससे पहले की आप किसी और फ़िल्म के बारे में पूछें मैं बता दूं कि मैंने उनकी कोई और फ़िल्म नहीं देखी है."

साल 2013 में आई फ़िल्म "लंचबॉक्स" एकमात्र फ़िल्म है जिस में इन दो अभिनेताओं ने एकसाथ काम किया था और इसके बाद से ही दोनों के बीच अनबन की ख़बरें है और पहले भी कई बार इरफ़ान और नवाज़ एक दूसरे के बारे में बात करने से कतराते रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार