'आसान नहीं है भाभी जी बनना'

इमेज कॉपीरइट andtv

एंड टीवी का लोकप्रिय धारावाहिक 'भाबी जी घर पर हैं' की नई 'अंगूरी भाभी' शुभांगी अत्रे इस किरदार को निभाने से पहले काफी नर्वस थीं.

'कसौटी ज़िंदगी की', 'कस्तूरी' और 'चिड़ियाघर' जैसे धारावाहिकों में काम कर चुकीं शुभांगी को उम्मीद है कि दर्शक उन्हें भी वही प्यार देंगे, जो पहले वाली 'भाभी जी' को दिया था.

इमेज कॉपीरइट and tv

वो कहती हैं कि 'अंगूरी भाभी' का किरदार निभाना इतना आसान नहीं है. लेकिन अपनी मेहनत और लगन पर उन्हें पूरा विश्वास है.

शुभांगी किस हद तक सफल होती हैं, वह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा.

फ़िलहाल तो नई 'अंगूरी भाभी' से पुरानी 'अंगूरी भाभी' खफ़ा-खफ़ा सी नज़र आ रही हैं. हाल ही में एक इंटरव्यू में शिल्पा ने शुभांगी को 'कॉपी कैट' तक बता दिया था.

इमेज कॉपीरइट and tv

शिल्पा ने कहा था, ''अंगूरी की तरह ड्रेस पहनना और उसकी तरह दिखना तो आसान है, लेकिन अंगूरी का किरदार करना बेहद मुश्किल है.''

शिल्पा ने शुभांगी को सलाह दी थी कि एक अभिनेत्री के रूप में उन्हें अपना आउटपुट डालना चाहिए.

नई 'अंगूरी भाभी' और पुरानी 'अंगूरी भाभी' में सिर्फ़ पीला सिंदूर और होंठ पर तिल का ही फ़र्क है.

वहीं धारावाहिक के अन्य कलाकार भी नई 'अंगूरी भाभी' को लेकर काफ़ी उत्साहित हैं.

इमेज कॉपीरइट nidhi sinha

मनमोहन तिवारी का किरदार निभाने वाले रोहिताश्व गौड़ कहते हैं, ''अंगूरी बदलकर भी नहीं बदली.''

वहीं विभूती नारायण मिश्र का किरदार निभाने वाले आसिफ़ शेख़ का मानना है कि 'अंगूरी भाभी' पहले से भी ज़्यादा स्वीट हो गई हैं.

इमेज कॉपीरइट and tv

शुभांगी ने धीरे-धीरे शो पर पकड़ बनानी शुरू कर दी है. वो पूरी रफ़्तार में कब तक आती हैं, यह आगे पता चलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार