'सांवले रंग पर है मुझको गुमान'

बॉलीवुड अदाकारा राधिका आप्टे कहती हैं कि उन्हें अपनी सांवले रंग पर अभिमान है.

साल 2015 में आई फ़िल्म ‘मांझी द माउंटेन मैन’ में अपने अभिनय के लिए तारीफ़े बटोरने वाली राधिका आप्टे बॉलीवुड की सांवली रंगत वाली अभिनेत्रियों में से एक हैं.

ऐसे में जब उनसे पूछा गया कि उन्हें भी अपनी सांवली रंगत ‘खलती’ है? तो उन्होंने कहा ‘‘मुझे अपने सांवले रंग पर अभिमान है. आपके अंदर जिस भी तरह की कमी है, चाहे वो लुक्स, रंग या टैलेंट हो, वो आपका ‘यूनिकनेस’ है.’’

इन दिनों अपनी फ़िल्म ‘फ़ोबिया’ के प्रमोशन में व्यस्त हैं. इसी सिलसिले में बीबीसी से ख़ास मुलाक़ात हुई.

इमेज कॉपीरइट Raindrop Media

अपने किरदार के बारे में वो कहती हैं, ‘‘मैं आधुनिक सोच वाली महिला के किरदार में हूं, जो पेशे से चित्रकार है. मुंबई जैसे शहर में अकेले रहती है और उसे ‘एग्रो फ़ोबिया’ है.’’

वो कहती हैं, ‘‘इस फ़ोबिया में सार्वजनिक स्थानों पर जाने से डर लगता है. इस फ़िल्म में मेरा किरदार भी इसी डर की वजह से ख़ुद को कमरे में बंद कर लेता है.’’

आप्टे कहती हैं, ‘ जब मुझे इस फ़िल्म के बारे में बताया गया, तब मैं पैनिक डिसऑर्डर पर रिसर्च कर रही थी. इसलिए मुझे इस थ्रिलर की कहानी समझ आ गई.’’

वहीं फ़िल्म के क्लाइमेक्स में नयापन होने को भी इस फ़िल्म करने की वजह बताती हैं.

लेकिन उन्हें असल ज़िन्दगी में किसी चीज़ से डर नहीं लगता है.

इमेज कॉपीरइट Raindrop Media

राधिका ने रंगमंच, डांस, शॉर्ट फ़िल्मों के अलावा कई रीजनल फ़िल्में भी की हैं.

वो कहतीं हैं, ‘‘मैंने कभी प्लान बना कर काम नहीं किया. रंगमंच की वजह से रीजनल फ़िल्में मिलीं और फिर शॉर्ट फ़िल्मों में काम करने का मौक़ा मिला. उसके बाद अब बड़े बैनर की फ़िल्मों के प्रस्ताव भी मिल रहे हैं.’’

राधिका जल्दी ही फ़िल्म ‘कबाली’ में रजनीकांत की पत्नी की भूमिका में नज़र आने वाली हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘अपनी आंखों के सामने रजनीकांत जैसी हस्ती को शूटिंग करते देखना और उनके साथ काम करना मेरे लिए बहुत बड़ी बात है.’’

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार