हरिवंशराय बच्चन की कविताएं अब अंग्रेज़ी में

अमिताभ बच्चन हिंदी के मशहूर कवि हरिवंशराय बच्चन की कविताओं का अंग्रेज़ी में अनुवाद करवा रहे हैं.

बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन अपने पिता स्वर्गीय हरिवंशराय बच्चन की कविताओं को युवा पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं.

हिन्दी की कविताओं को अंग्रेज़ी में करवाने के पीछे की वजह बताते हुए वो कहते हैं, "आज की पीढ़ी कविताओं या साहित्यिक रचनाओं में कम ही रूचि रखती है.''

वे आगे कहते हैं कि आज की पीढ़ी हिंदी भाषी या मराठी भाषी होने के बावजूद भी ज़्यादातर अंग्रेज़ी ही बोलती और पढ़ती है.

इमेज कॉपीरइट Screen

अमिताभ बताते हैं कि यह सुझाव जया की ओर से आया, ''जया को लगा कि बाबूजी की कविताओं का अनुवाद अंग्रेज़ी में करना बेहतर होगा क्योंकि अब अंग्रेज़ी अधिक पढ़ी जाती है."

ग़ौरतलब है कि साल 1933 में रचित 'मधुशाला' का अंग्रेज़ी अनुवाद साल 1940 में ऑक्सफ़ोर्ड की एक शिक्षिका ने किया था. अनुवादित प्रति का नाम 'हाउस ऑफ़ वाइन' था.

अमिताभ आगे कहते हैं, "बाबूजी की कविताओं का अंग्रेज़ी में अनुवाद का ख़याल उनकी सौवीं वर्षगांठ पर आया, जब एक ही पुस्तक में 'मधुशाला' का मौलिक रूप और अंग्रेज़ी अनुवादित रूप प्रस्तुत किया गया." डॉ. हरिवंशराय बच्चन की कविताओं का अंग्रेज़ी अनुवाद अमिताभ बच्चन के विदेश में रहने वाले क़रीबी दोस्त कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट MADHU PAL

अपने पिता की कविताओं को बुलंद आवाज़ में सुनाने वाले अमिताभ बच्चन कवि नहीं बनना चाहते, क्योंकि उनकी माँ यानि तेजी बच्चन का कहना था कि घर में एक कवि काफ़ी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार