'पुत्र मोह छोड़ राजनीति से सन्यास लें मुलायम'

इमेज कॉपीरइट AP

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी में जारी कलह के बीच बहुजन समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को पुत्र मोह छोड़ कर सक्रिय राजनीति से तुरंत सन्यास ले लेना चाहिए.

उन्होंने पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि यादव परिवार के दर्जन भर सदस्य राजनीतिक और सरकारी पदों पर हैं और यह उनकी महत्वाकांक्षाओं को दिखाता है.

मायावती ने कहा कि ऐसे में एक दिन ये कलह सामने आनी ही थी.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अखिलेश पर हमला बोला है और कहा कि चार साल बाद साइकिल ठीक करने से क्या फायदा?

इमेज कॉपीरइट AFP

राहुल गांधी ने इलाहाबाद में अपनी किसान यात्रा के दौरान कहा, "अखिलेश को अपनी साइकिल चार साल पहले ही ठीक करानी चाहिए थी. अब जब चुनाव को बस छह महीने रह गए हैं, तो इन सबका क्या फायदा."

इस बीच, समाजवादी पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि पार्टी नेतृत्व ने अखिलेश को पार्टी अध्यक्ष पद से हटाकर गलती की है.

रामगोपाल यादव का ये भी कहना था कि कुछ गलतफहमियों के कारण मतभेद और बढ़ गए हैं. उन्होंने ये कहा कि यदि मुलायम मांग लेते तो मुख्य मंत्री इस्तीफा दे ही देते.

मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि मैं सब ठीक कर दूंगा.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption (फ़ाइल फ़ोटो)

पार्टी में मची कलह के बारे में बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि कोई बाहरी व्यक्ति दखल दे रहा है. अटकलें हैं कि उनका इशारा अमर सिंह की ओर है.

तो अमर सिंह ने कहा कि अखिलेश बच्चे की तरह हैं. अगर वे बार बार मारेंगे तो मैं पूछूंगा बेटे कहीं चोट तो नहीं लगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)