शिवपाल, अखिलेश और रामगोपाल में कोई मदभेद नहीं : मुलायम

समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि पार्टी में कोई फूट नहीं है और सभी मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे.

उन्होंने शिवपाल यादव, रामगोपाल यादव और अखिलेश यादव का नाम लेकर कहा है कि इनके बीच कोई मतभेद नहीं हैं.

मुलायम सिंह यादव जब मीडिया के प्रश्नों का जवाब दे रहे थे तो अखिलेश यावद और शिवपाल यादव के समर्थक नारे लगा रहे थे.

उन्होंने अखिलेश यादव सरकार के कामकाज की तारीफ़ की और कहा कि सब मिलकर चुनाव लड़ेंगे और जीतेंगे.

इससे पहले उन्होंने पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष पद से शिवपाल यादव का इस्तीफ़ा अस्वीकार कर दिया.

गुरुवार को उन्होंने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद और अखिलेश मंत्रिमंडल से इस्तीफ़ा दे दिया था.

मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल के इस्तीफ़े बाद से ही समाजवादी पार्टी का संकट गहरा गया है.

इमेज कॉपीरइट Shivpal facebook

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव से कई मंत्रालय छीन लिए थे. इसके बाद राजनीतिक अटकलबाज़ियों का बाज़ार गर्म हो गया था.

मंत्रालय छीने जाने के बाद ही पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह ने अखिलेश को हटाकर प्रदेश अध्यक्ष का पद शिवपाल यादव को सौंप दिया था.

लेकिन गुरुवार को उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

उसके बाद से ही शिवपाल यादव के समर्थक और कई विधायक उनके आवास पर जमा होने लगे थे.

सभी को इंतज़ार था कि पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव उनके इस्तीफ़े पर क्या फ़ैसला लेते हैं.

शुक्रवार को शिवपाल यादव से मुलाकात के बाद मुलायम सिंह ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से उनका इस्तीफ़ा नामंज़ूर कर दिया है.

इससे पहले बृहस्पतिवार को समाजवादी पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा था कि पार्टी नेतृत्व ने अखिलेश को पार्टी अध्यक्ष पद से हटाकर ग़लती की है.

रामगोपाल यादव का ये भी कहना था कि कुछ गलतफहमियों के कारण मतभेद और बढ़ गए हैं. उन्होंने ये कहा कि यदि मुलायम मांग लेते तो मुख्यमंत्री इस्तीफ़ा दे ही देते.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)