समाजवादी पार्टी का संकट: फिलहाल सुलह

इमेज कॉपीरइट Facebook

शिवपाल यादव को एक बार फिर से उनके सारे विभाग वापस मिलेंगे लेकिन उसमें पीडब्ल्यूडी नहीं होगा.. प्रजापति की भी उनके मंत्रालय में वापसी होगी.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शाम को ट्वीट किया कि इस हफ्ते की शुरुआत में शिवपाल यादव से जो मंत्रालय वापस ले लिए गए थे वे उन्हें वापस लौटा दिए जाएंगे.

हालांकि अब पता चला है कि उन्हें पीडब्ल्यूडी मंत्रालय नहीं मिल रहा है जिसे लेकर सारा विवाद खड़ा हुआ.

इसके एवज़ में शिवपाल यादव को दो नए मंत्रालय जरूर दे दिए गए हैं. ये दो मंत्रालय हैं लघु सिंचाई और चिकित्सा शिक्षा.

शिवपाल यादव उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडर में मुख्यमंत्री के बाद दूसरे सबसे ताकतवर शख़्स हैं. छोटे बड़े कुल 13 मंत्रालयों की जिम्मेदारी उन्हीं के कंधे पर है.

अखिलेश यादव ने ये भी ट्वीट किया है कि गायत्री प्रजापति मंत्रिपरिषद में शामिल किए जाएंगे.

समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने सुबह ही कहा था कि पार्टी में कोई फूट नहीं है और सभी मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे.

उन्होंने शिवपाल यादव, रामगोपाल यादव और अखिलेश यादव का नाम लेकर कहा है कि इनके बीच कोई मतभेद नहीं हैं.

इससे पहले उन्होंने पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष पद से शिवपाल यादव का इस्तीफ़ा अस्वीकार कर दिया.

शिवपाल न गुरुवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद और अखिलेश मंत्रिमंडल से इस्तीफ़ा दे दिया था.

मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल के इस्तीफ़े बाद से ही समाजवादी पार्टी का संकट गहरा गया लग रहा था.

इमेज कॉपीरइट PTI

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव से कई मंत्रालय छीन लिए थे. इसके बाद राजनीतिक अटकलबाज़ियों का बाज़ार गर्म हो गया था.

मंत्रालय छीने जाने के बाद ही पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह ने अखिलेश को हटाकर प्रदेश अध्यक्ष का पद शिवपाल यादव को सौंप दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)