शहाबुद्दीन को नोटिस, जमानत पर रोक नहीं

Image caption शहाबुद्दीन को हाल ही में बिहार में कई मामलों में जमानत मिली है

सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की जमानत पर अंतरिम रोक लगाने से इनकार कर दिया है.

हत्या के एक मामले में पटना हाई कोर्ट ने शहाबुद्दीन को ज़मानत दी थी. इसके बाद मचे राजनीतिक घमासान के बाद बिहार सरकार ने जमानत के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वो इस मामले में शहाबुद्दीन का पक्ष सुनना चाहता है. इस मामले में सुनवाई की अगली तारीख 26 सितंबर रखी गई है.

बिहार सरकार ने याचिका में मांग की थी कि शहाबुद्दीन की जमानत पर रोक लगे और शहाबुद्दीन के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो.

सुप्रीम कोर्ट ने राजद नेता शहाबुद्दीन को इस मामले में नोटिस जारी किया है.

11 साल से क़ैद में रह रहे शहाबुद्दीन को भागलपुर सेंट्रल जेल से 10 सितंबर को रिहा किया गया था. पटना हाई कोर्ट ने शहाबुद्दीन को राजीव रोशन हत्या मामले में ज़मानत दी थी.

पूर्व सांसद पर कई आपराधिक मामले हैं. वे सिवान से लालू प्रसाद की राष्ट्रीय जनता दल के सांसद रहे हैं. लेकिन साथ ही उनकी छवि एक बाहुबलि की रही है.

मई में दैनिक अख़बार हिंदुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के बाद शहाबुद्दीन को सिवान जेल से भागलपुर जेल भेज दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)