कश्मीर में मुठभेड़, कई जगह कर्फ्यू हटा

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption सीमा पार नजर रखता भारतीय जवान. फाइल फोटो

भारत प्रशासित कश्मीर के हंदवाड़ा सेक्टर में सेना और चरमपंथियों के बीच मुठभेड़ की खबरें आ रही हैं. मीडिया रिपोर्टों में चरमपंथियों के मरने की अलग अलग संख्या आ रही है लेकिन सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि करने से इंकार किया है.

सरकारी टीवी दूरदर्शन न्यूज़ ने अपने ट्वीट में कहा है कि हंदवाड़ा में हो रही मुठभेड़ में एक चरमपंथी की मौत हुई है जबकि समाचार एजेंसी पीटीआई और एएनआई ने अपने ट्वीट्स में मारे गए चरमपंथियों की संख्या दस तक बताई है.

बीबीसी संवाददाता रियाज़ मसरूर ने कहा है कि उन्होंने इस बारे में जब सेना के आला अधिकारी से बात की तो उन्होंने मरने वालों की संख्या के बारे में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया.

उधर एजेंसियों के अनुसार नौगाम सैक्टर में भी एक जगह सुरक्षाकर्मियों और संदिग्ध चरमपंथियों के बीच गोलीबारी चल रही है और एक जवान के मारे जाने की ख़बर है.

युद्धविराम का उल्लंघन

उड़ी सेक्टर में चरमपंथी हमले के बाद बनी तनावपूर्ण स्थिति के बीच भारतीय सेना ने इसी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना पर युद्धविराम का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सेना के हवाले से खबर दी है कि नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सैनिकों ने युद्धविराम का उल्लंघन किया है.

श्रीनगर से बीबीसी संवाददाता रियाज़ मसरूर ने सेना के अधिकारी के हवाले से बताया है कि उड़ी में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान सैनिकों ने भारतीय सैन्य ठिकानों पर गोलीबारी की जिसका प्रभावशाली तरीके से जवाब दिया गया है.

दोनों देशों के बीच नियंत्रण रेखा पर 26 नवंबर 2003 से युद्धविराम लागू है.

इस बीच उड़ी मामले में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की और सीमा पार आतंकवाद की कड़ी भर्त्सना की है.

घाटी से कर्फ्यू हटा

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption श्रीनगर में स्थिति पर नियंत्रण करने को तैनात अर्धसैनिक बल

उधर कश्मीर में पिछले कई दिनों से लगा हुआ कर्फ्यू हटा लिया गया है.

पीटीआई के मुताबिक अब घाटी के सिर्फ पांच पुलिस थानों से जुड़े इलाकों में कर्फ्यू लगा हुआ है.

घाटी में कर्फ्यू लगे हुए 74 दिन हो गए थे.

पुलिस अधिकारियों के अनुसार श्रीनगर के अंदरूनी हिस्से हरवान के पांच संवेदनशील थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू बरकरार है.

इस क्षेत्र में शुक्रवार को पुलिस की गोली से एक युवक मारा गया था जिसके शोक का आज चौथा दिन है, जिसे देखते हुए कर्फ्यू बना हुआ है.

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि घाटी में बाकी स्थानों पर स्थिति बेहतर हुई है और इसी के कारण कर्फ्यू हटाया गया है.

घाटी में सोमवार को पत्थरबाज़ी की इक्का दुक्का घटनाओं को छोड़कर स्थिति सामान्य रही थी.

घाटी से कर्फ्यू हटा लिया गया है लेकिन धारा 144 अब भी लागू है, यानी चार या ज़्यादा लोग एक साथ कही एकत्र नहीं हो सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)