शहाबुद्दीन संग दिखे कैफ़ का आत्मसमर्पण

इमेज कॉपीरइट Surendra Kumar
Image caption पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की रिहाई के वक्त मोहम्मद कैफ उनके साथ दिखाई दिए थे.

फिरोज खान नाम के शख्स से कथित तौर पर रंगदारी मांगने के मामले में फरार हुए पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ़ ने सिवान जिला अदालत में बुधवार को आत्मसमर्पण कर दिया.

अदालत ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. दरअसल सीवान डिस्ट्रिक्ट और अंडर-16 इंडो-नेपाल फ्रेंडशिप क्रिकेट टूर्नामेंट खेलने वाले कैफ़ तीन बार जेल जा चुके हैं.

डीएवी कॉलेज, सिवान से इंटरमीडिएट कर क्रिकेटर बनने का सपना देखने वाले करीब 30 साल के कैफ़ ने कब और कैसे इस राह को छोड़कर 'डॉन' बनने की राह पकड़ ली, यह उन्हें खुद भी नहीं पता चला.

पिता शमसीर ने कैफ़ को ज़मीन की खरीद-बिक्री के धंधे में लगाया, पर वह जमीन और रंगदारी वसूलने के झगड़े में फंसते चले गए.

फिलहाल उनके खिलाफ मारपीट, धमकी, रंगदारी के छह मामले दर्ज हैं.

इमेज कॉपीरइट Surendra Kumar
Image caption पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन

बीती 10 सितंबर को पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के रिहाई जुलूस में शहाबुद्दीन के साथ कैफ़ की तस्वीर मीडिया में वायरल हुई थीं.

पुलिस और जानकारों का मानना है कि जमीन के झगड़े में किसी डॉन की सरपरस्ती पाने की चाहत ने कैफ़ को शहाबुद्दीन के करीब पहुंचा दिया.

पुलिस के अनुसार पत्रकार हत्या के मामले में गिरफ्तार अभियुक्तों ने कैफ़ का नाम लिया था.

पुलिस का कहना है कि घटना के समय कैफ़ का मोबाइल लोकेशन घटनास्थल के पास पाया था, इसलिए अभी उन्हें संदिग्धों की सूची में रखा गया है.

शहाबुद्दीन की रिहाई के साथ चर्चा में आए कैफ़ की तस्वीरें स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप के साथ भी आई थीं, लेकिन मंत्री तेजप्रताप ने कैफ़ को जानने- पहचानने से इंकार कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)