स्कारलेट मामले में दोनों अभियुक्त बरी

इमेज कॉपीरइट FAMILY
Image caption ब्रिटेन से 15 साल की स्कारलेट कीलिंग 2008 में अपने परिवार के साथ गोवा घूमने आई थीं.

गोवा की एक अदालत ने ब्रितानी किशोरी स्कारलेट कीलिंग के बलात्कार और हत्या के मामले में दोनों अभियुक्तों को बरी कर दिया है.

शुक्रवार को गोवा की चिल्ड्रन कोर्ट ने आठ साल बाद इस मामले में फैसला सुनाते हुए सैमसन डिसूज़ा और प्लैसिडो कार्वाल्हो को बरी कर दिया.

स्कारलेट कीलिंग वर्ष 2008 में गोवा के अंजुना समुद्र तट पर मृत पाई गई थी. उनकी बलात्कार के बाद हत्या हुई थी.

स्कारलेट की माँ फ़ियोना मैक्किओन ने कोर्ट के फैसले पर कहा, ''मैं टूट चुकी हूं. मेरी बेटी का बलात्कार हुआ था. इसके लिए किसी को तो ज़िम्मेदार ठहराया जाना चाहिए.''

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption स्कारलेट को न्याय दिलाने के लिए उनकी मां क़ानूनी लड़ाई लड़ रही हैं

स्कारलेट कीलिंग अपनी मां और चार भाई-बहनों के साथ वर्ष 2008 के नवंबर में छह महीनों के लिए गोवा घूमने आई थी.

लेकिन 18 फ़रवरी को उनकी लाश गोवा के समुद्र तट पर अर्धनग्न स्थिति में पाई गई थी.

इस मामले की शुरूवात में गोवा की पुलिस का कहना था कि स्कारलेट दुर्घटनावश समुद्र के पानी में डूब गई थी. हालांकि मां फ़ियोना ने इसे गलत बताया था और सच सामने लाने के लिए अभियान भी चलाया.

रिपोर्टरों से बात करते हुए फ़ियोना ने कहा, ''मैं हार नहीं मानने वाली हूं. मैं इस वक्त दुखी हूं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)