छत्तीसगढ़ः मुठभेड़ में तीन 'महिला माओवादियों'की मौत

इमेज कॉपीरइट Chhattisgarh Police

छत्तीसगढ़ के सुकमा ज़िले में पुलिस ने एक मुठभेड़ में तीन कथित महिला माओवादियों के मारे जाने का दावा किया है.

एक दूसरी घटना में बस्तर के ही नारायणपुर में माओवादियों ने विस्फोट किया जिसमें पुलिस का एक जवान मारा गया.

सुकमा ज़िले के पुलिस अधीक्षक आई के इलेसेला ने बताया, "गादीरास थाने के बड़ेशेट्टी इलाके में हथियारबंद माओवादियों की उपस्थिति की ख़बर मिलने के बाद सुरक्षाबलों का एक संयुक्त दल तलाशी अभियान में निकला था. यहीं माओवादियों ने तलाशी दल पर हमला किया."

इलेसेला के अनुसार, "इसके बाद जवाबी कार्रवाई की गई. फायरिंग बंद होने के बाद पुलिस ने मौके से तीन महिला माओवादियों का शव बरामद किया है."

इमेज कॉपीरइट Alok Putul

पुलिस ने मारी गई महिलाओं में से एक की पहचान एलओएस कमांडर अंजू के तौर पर की है. पुलिस का दावा है कि मौके से दो बंदूकें भी बरामद की गई है.

हांलाकि इन बरामद बंदूक में एक देसी बंदूक है जबकि दूसरी भरमार बंदूक है, जिसका इस्तेमाल जानवरों को मारने के लिए जाता है.

इधर नारायणपुर ज़िले में एक जनसमस्या शिविर की सुरक्षा में तैनात पुलिस बल की एक टुकड़ी माओवादियों की ओर से किए गए विस्फोट की चपेट में आ गई. इसमें पुलिस का एक जवान मारा गया.

इस हमले में पुलिस के चार जवान गंभीर रुप से घायल हुए हैं. उन्हें ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)