'एलओसी पर भारत की सर्जिकल स्ट्राइक'

इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय सेना ने कहा है कि उसने पाकिस्तान के साथ लगती नियंत्रण रेखा के पास चरमपंथी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक्स की हैं.

भारतीय सेना के डीजीएमओ लेफ़्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा, "ये स्ट्राइक्स बुधवार रात को नियंत्रण रेखा पर आतंकवादी अड्डों पर की गईं, जब ये पक्की जानकारी मिली कि आतंकवादी नियंत्रण रेखा पर जमा हो रहे हैं."

उन्होंने ये भी कहा कि पाकिस्तान के डीजीएनओ से इस बारे में बात की गई है और उन्हें बता दिया गया है कि ये स्ट्राइक्स ख़त्म हो चुकी हैं और फ़िलहाल इनको जारी नहीं रखा जाएगा.

पाकिस्तानी सेना ने भारत के दावों का खंडन किया और कहा है कि कार्रवाई नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी तक सीमित थी.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने भारत की कथित सैन्य कार्रवाई की निंदा की है.

भारत सरकार ने इस मामले पर बातचीत के लिए सभी राजनीतिक दलों की एक बैठक शाम चार बजे बुलाई है.

पीटीआई का कहना है कि भारतीय सेना के सर्जिकल हमले की ख़बर के बाद शेयर बाज़ार में गिरावट आई. सेंसेक्स 555 अंक नीचे गिर गया जबकि निफ़्टी में 170 अंकों की गिरावट दर्ज की गई.

हालांकि बाद में शेयर बाजा़र में सुधार भी हुआ.

'सेना हर स्थिति के लिए तैयार'

सेना की स्ट्राइक पर बोलते हुए लेफ़्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह का कहना था भारत किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.

इमेज कॉपीरइट Pib
Image caption भारत में गुरुवार को सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमिटी की बैठक हुई

सेना के डीजीएमओ का कहना था कि चरमपंथी भारत में घुसकर कई अहम शहरों पर हमला करने की योजना रखते थे.

उनके मुताबिक़ पुंछ सेक्टर में ही सिंतबर में घुसपैठ की तक़रीबन 20 कोशिशें हुई हैं जिन्हें भारतीय सेना ने नाकाम किया.

उन्होंने ये भी कहा कि वो कुछ लोगों को पकड़ने में भी कामयाब हुई जिन्होंने कथित तौर पर ये माना कि उनकी ट्रेनिंग पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में हुई थी. जिसके बाद उन्हें हथियार मुहैया करवाए गए.

पाकिस्तान सेना की प्रतिक्रिया

पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि गोलीबारी रात के ढाई बजे से शुरू हुई और सुबह के आठ बजे तक जारी रही.

पाकिस्तानी सेना के मुताबिक़ नियंत्रण रेखा पर 'बिना किसी उकसावे के' भारत की तरफ़ से भिम्बर, हॉट स्प्रिंग, केल और लीपा सेक्टरों में फ़ायरिंग हुई. भारत की ओर से कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुई है, ये सीमा पार से फायरिंग थी जो पहले भी होती रही है."

पाकिस्तानी सेना की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि "अगर पाकिस्तान की ज़मीन पर कोई सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो उसका कड़ा जवाब दिया जाएगा."

पाकिस्तान के चैनल पीटीवी के मुताबिक़, प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने 'भारत के खुले अत्याचार' की कड़ी निंदा की है और "मारे गए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी है."

बीबीसी संवाददाता हारुन रशीद का कहना है कि नवाज़ शरीफ़ ने भारतीय सेना के हमले की निंदा की जिसमें दो पाकिस्तानी सैनिकों की मौत हो गई है.

शरीफ़ ने कहा है कि शांति की हमारी ख़्वाहिश को कमज़ोरी नहीं समझा जाना चाहिए और हमारे सैनिक सीमा की सुरक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.