दबाव में हैं प्रधानमंत्री मोदी : पाकिस्तानी मीडिया

इमेज कॉपीरइट AP

भारतीय सेना ने दावा किया है कि पाकिस्तान के साथ सटी नियंत्रण रेखा पर सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक्स किए हैं. इसके बाद से ही पाकिस्तानी मीडिया में ये ख़बर सुर्खियों में है. पाकिस्तानी अख़बारों में उन रिपोर्टों को तरजीह दी जा रही है जिनमें भारतीय हमले के दावे को नकारा गया है.

ऊर्दू टीवी चैनल डॉन न्यूज़ ने सीमा पर सेना तैनाती का फुटेज दिखाया है. साथ ही पाकिस्तान रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ़ को भी दिखाया गया है जिसमें वो कह रहे हैं कि भारतीय सेना ने एलओसी के साथ तीन सेक्टरों में छोटे पैमाने पर फ़ायरिंग की थी.

कुछ पाकिस्तानी रिपोर्टों के मुताबिक भारत ने इसलिए कार्रवाई की है क्योंकि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दबाव में हैं. इन रिपोर्टों में 'कथित हमलों' को मीडिया का शिगूफ़ा बताया है.

वहीं ऊर्दू चैनल समा टीवी ने पाकिस्तानी सेना के मीडिया विंग के हवाले से कहा है कि भारतीय हमले की बात बिल्कुल बेबुनियाद है.

इमेज कॉपीरइट dawn news

एआरवाई न्यूज़ चैनल पर आए विश्षेलकों ने इस पर ज़ोर दिया कि इस घटना की ख़ास बात ये है कि पाँच ठिकानों पर एक साथ हमला हुआ जो सामान्य नहीं है.

भारतीय सेना के डीजीएमओ लेफ़्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने गुरुवार को प्रेस ब्रीफ़िंग में कहा था, "ये स्ट्राइक्स बुधवार रात को नियंत्रण रेखा पर आतंकवादी अड्डों पर की गईं, जब ये पक्की जानकारी मिली कि आतंकवादी नियंत्रण रेखा पर जमा हो रहे हैं."

उन्होंने ये भी कहा है कि पाकिस्तान के डीजीएनओ से इस बारे में बात की गई है और उन्हें बता दिया गया है कि ये स्ट्राइक्स ख़त्म हो चुकी हैं और फ़िलहाल इनको जारी नहीं रखा जाएगा.