भारतीय सीमा पर बढ़ी चौकसी, एडवायज़री जारी

इमेज कॉपीरइट AP

अंग्रेज़ी अख़बार 'द इंडियन एक्सप्रेस' ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि नियंत्रण रेखा पर सर्जिकल स्ट्राइक का दावा करने के एक दिन बाद भारत के गृह मंत्रालय ने चरमपंथियों का संभावित हमला रोकने के लिए सभी राज्यों को एहतियात बरतने के लिए एक एडवायज़री जारी की है.

अख़बार ने एक सुरक्षा अधिकारी के हवाले से कहा है, "देश में सुरक्षा के लिहाज़ से अक्तूबर का पूरा महीना महत्वपूर्ण है, ख़ास कर अगले 10-15 दिन अहम हैं और शीर्ष स्तर की चौकसी रखी जाएगी. समुद्री सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है."

अख़बार ने कहा है कि मंत्रालय ने बीएसएफ से सीमा पर युद्धविराम का उल्लंघन होने पर "पूरी ताकत" से उसका जवाब देने के लिए कहा है.

इमेज कॉपीरइट NEELESH PARDESHI

'द इंडियन एक्सप्रैस' की ही एक और रिपोर्ट के मुताबिक़ पाकिस्तान के क़ब्ज़े में आए भारतीय सैनिक चंदू चव्हाण के बारे में जानकर उनकी दादी को दिल का दौरा पड़ गया जिनसे उनकी मौत हो गई.

65 वर्षीय लीलाबाई गुजरात के जामनगर में अपने दूसरे पोते से मिलने गईं थी जब उन्हें ये समाचार मिला. वो भी सेना में ही है.

इमेज कॉपीरइट AFP

'हिंदुस्तान टाइम्स' की एक रिपोर्ट के मुताबिक तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के राजनीतिक प्रतिद्वंदी के. करुणानिधि ने जयललिता की सेहत के बारे में जानकारी सार्वजनिक किए जाने की मांग की है.

उन्होंने कहा कि जयलिलता की सेहत को लेकर अफ़वाहों के मद्देनज़र उनकी तस्वीरें सामने आनी चाहिए. करुणानिधि ने सवाल उठाया है कि वरिष्ठ मंत्री जयलिलता से मिलने क्यों नहीं जा रहे हैं. जयललिता को बीते सप्ताह चैन्ने के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

'द हिंदू' की एक रिपोर्ट के मुताबिक जयललिता का इलाज करने के लिए ब्रितानी डॉक्टर चैन्नई पहुँचे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'हिंदुस्तान टाइम्स' और 'टाइम्स ऑफ़ इंडिया' ने लिखा है कि पाकिस्तान पूरी तरह अलग-थलग पड़ गया है.

दोनों ही अख़बारों ने भारत प्रशासित कश्मीर के अख़नूर सेक्टर में आगे बढ़ रही सैन्य गाड़ियों की तस्वीर भी प्रकाशित की है.

इलाज कराने पाकिस्तान से भारत आई पाकिस्तानी महिला ने 'द हिंदू' अख़बार से कहा है कि पाकिस्तान में भी लोग शांति चाहते हैं.

शुक्रवार को लाहौर से दिल्ली पहुंची सोफ़िया जोसफ़ ने कहा है कि उनके लिए कुछ भी नहीं बदला है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)