रिज़र्व बैंक ने 0.25 फ़ीसदी घटाई ब्याज़ दरें

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय रिज़र्व बैंक ने नीतिगत दरों में नीतिगत दरों यानी रेपो रेट में 0.25 फ़ीसदी की कटौती कर दी है.

इस तरह, 0.25 फ़ीसदी की कटौती के बाद रेपो रेट 6.5 फ़ीसदी से घटकर 6.25 फ़ीसदी हो गया है.

रघुराम राजन के बाद उर्जित पटेल ने रिज़र्व बैंक के गवर्नर का पद संभाला है. पद संभालने के बाद उनकी ये पहली क्रेडिट पॉलिसी है.

रेपो रेट में कटौती का मतलब ये कि अब बैंकों को आरबीआई से सस्ता कर्ज़ मिल सकेगा और उम्मीद की जा सकती है कि बैंक उसका फ़ायदा ग्राहकों तक भी पहुंचाएंगे.

मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी की अगली बैठक 6-7 दिसंबर को होगी.

रिज़र्व बैंक की इस घोषणा के बाद रिवर्स रेपो रेट 6 फ़ीसदी से घटकर 5.75 फीसदी के स्तर पर आ गया है.

रिवर्स रेपो पर ही बैंक अपना पैसा आरबीआई के पास रखते हैं.

आरबीआई ने कैश रिजर्व रेश्यो यानी सीआरआर में कोई बदलाव नहीं किया है और ये 4 फ़ीसदी पर कायम है.

आरबीआई ने दिसंबर 2016 तक महंगाई दर 5 फ़ीसदी पर रहने की संभावना जताई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)