'मीडिया जबरन रिएक्शन मांगता है'

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK
Image caption पाकिस्तान पर मीडिया के जबरन प्रतिक्रिया लेने से परेशान मनोज बाजपेई

अभिनेता मनोज बाजपेई ने कहा कि पाकिस्तान के मुद्दे पर कलाकारों को जबरन बुलवाया जा रहा है.

मनोज बाजपेई ने बीबीसी फ़ेसुबक लाईव के दौरान कहा कि पाकिस्तान के मुद्दे पर कलाकारों की राय की कोई ज़रूरत ही नहीं है.

वो कहते हैं, 'कलाकारों के मुंह के आगे माईक लगा दिए जा रहे हैं और उनसे उम्मीद की जा रही है कि सीधा हां या ना में प्रतिक्रिया दें.'

मनोज ने आगे कहा, "हमने बैन के लिए हां कह दिया तो हम ग़लत, न कह दिया तो हमारा विरोध, आख़िर आप हमें क्यों खींच रहे हैं."

मनोज फ़िलहाल अपनी आने वाली फ़िल्म सात उचक्के का प्रमोशन कर रहे हैं और वो कहते हैं, "हमसे हर चैनल बस यही सवाल कर रहा है कि इस बैन पर आपका क्या कहना है, अरे इस पर सरकार फ़ैसला लेगी, हम कौन होते हैं इस पर प्रतिक्रिया देने वाले."

मनोज के साथ फ़िल्म के प्रमोशन करने आए कलाकार विजयराज ने भी कहा, "देश और मुल्क़ों के फ़ैसले लेने के लिए लोग पार्लियामेंट में बैठे हुए हैं. सही, ग़लत उन्हें तय करने दीजिए, हम क्यों आपस में एक दूसरे को घसीट रहे हैं."

फ़िल्म में काम करने वाली अभिनेत्री अदिति शर्मा ने कहा कि वो बैन के पक्ष में नहीं है, "देखिए कला प्यार को बढ़ाती है इसलिए इसे रोकना ठीक नहीं.लेकिन हां अगर दो सरकारों ने फ़ैसला लिया तो कला क्या, कुछ भी इधर उधर नहीं होना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)