सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो दिखाने की ज़रूरत नहीं: पर्रिकर

इमेज कॉपीरइट AP

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि नियंत्रण रेखा के पार हुए सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो दिखाने की कोई ज़रूरत नहीं है.

पर्रिकर ने नियंत्रण पार हुए इस अभियान को ''सौ प्रतिशत सटीक सर्जिकल स्ट्राइक'' बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ में देश की सीमाएं बिल्कुल सुरक्षित हैं.

हालांकि उन्होंने चेतावनी दी कि लोगों को 'कुछ तत्वों' के प्रति सतर्क रहना होगा जो देश के प्रति पूरी तरह से वफादार नहीं हैं.

पर्रिकर ने कहा, "हमारी सेनाओं की बहादुरी पर कभी किसी ने शक जाहिर नहीं किया लेकिन हाल में पहली बार कुछ लोग संदेह जाहिर कर रहे हैं."

हालांकि उन्होंने किसी का नाम लेने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि वीडियो जारी करने और किसी तरह का सबूत देने की कोई वजह नहीं है.

इमेज कॉपीरइट PIB

पर्रिकर ने ये भी कहा कि कई पूर्व सैनिकों ने जरूरत पड़ने पर सीमा पर लड़ने की इच्छा जाहिर की है.

उन्होंने कहा, " कुछ पूर्व सैनिकों ने मुझे पत्र लिखा है और कहा है कि वो अगर जरुरत पड़ेगी तो वो सीमा पर लड़ने को तैयार हैं. मैं उन्हें सलाम करता हूं."

पर्रिकर ने कहा कि सेना और नागरिकों को 'हताश' चरमपंथियों को लेकर सतर्क रहने की जरुरत है जो सर्जिकल स्ट्राइक की वजह से शर्मसार होने के कारण हमला करने की कोशिश कर सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)