बीजेपी सर्जिकल स्ट्राइक पर राजनीति कर रही: मायावती

इमेज कॉपीरइट AP

बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सिर्फ़ सेना की पीठ ठोंकी जानी चाहिए, नेताओं की नहीं.

उन्होंने कहा कि लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है और भारतीय जनता पार्टी जगह-जगह पोस्टर लगवाकर इसका राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रही है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बाद मायावती दूसरी नेता हैं जिन्होंने पिछले दो दिनों में सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सवाल उठाए हैं.

लखनऊ में मायावती ने आरोप लगाया है कि बीजेपी सेना के नाम पर फ़ायदा उठा रही है.

उन्होंने कहा, "सर्जिकल स्‍ट्राइक ने देश का मनोबल बढ़ाया है, लेकिन इसमें मंत्रियों का नहीं, सैनिकों का सम्‍मान होना चाहिए. भारतीय सेना का अभिनंदन और जय-जयकार होनी चाहिए लेकिन ऐसा हो नहीं रहा."

मायावती ने कहा कि इसे लेकर बीजेपी राजनीति कर रही है और जान-बूझकर जगह-जगह पोस्टर लगवा रही है ताकि उसे आगामी विधान सभा चुनाव में राजनीतिक लाभ मिल सके.

उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक सेना की बहादुरी का नतीजा है, नेताओं या किसी राजनीतिक दल की उपलब्धि नहीं.

बीजेपी पर प्रदेश के सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने का आरोप लगाते हुए मायावती ने कहा कि वो राजनीतिक फ़ायदे के लिए दंगे कराने की फ़िराक में है.

मायावती ने कहा कि यह जश्न मनाने का समय नहीं है और न ही इसका चुनावी लाभ लेने की कोशिश करनी चाहिए.

मायावती इससे पहले भी कह चुकी हैं कि यदि पठानकोट हमले के बाद तुंरत बाद यह कार्रवाई की गई होती तो उरी जैसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना को टाला जा सकता था और हमारे 19 जवानों की जान बच सकती थी.

उन्होंने आरोप लगाया था कि मौजूदा सरकार ने पिछले ढाई साल में अंतरराष्ट्रीय सीमाओं की सुरक्षा की ओर ओर ध्यान नहीं दिया जिसके चलते आतंकी घटनाए बढ़ रही है और हमारे जवानों की जान जाती है.