ऑपरेशन से मिली दुम से निज़ात

Image caption किशोर की दुम 20 सेंटीमीटर तक लंबी हो चुकी थी

भारत के महाराष्ट्र राज्य के नागपुर में अपनी तरह का एक दुर्लभ मामला सामने आया है जहां 18 साल के एक किशोर की 20 सेंटीमीटर लंबी 'दुम' को सर्जरी करके अलग किया गया है.

किशोर और उसके परिवार ने इस 'दुम' के बारे में किसी से चर्चा नहीं की क्योंकि उन्हें लगता था कि इसकी वजह से बच्चे को परेशान किया जाएगा.

14 साल की उम्र में आने के बाद इस किशोर की 'दुम' जब तेज़ी से बढ़ने लगी तो घरवाले चिंतित होकर डॉक्टर के पास पहुंचे.

किशोर की मां ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि समस्या तब बड़ी हो गई जब उसकी 'दुम' शरीर से बाहर बढ़ने लगी.

उन्होंने बताया, "जब भी उसे कपड़े बदलने होते थे तो उसे दुम से परेशानी होती थी और बहुत दर्द भी होता था, इसलिए मैं उसे डॉक्टर के पास लेकर गई".

डॉक्टरों का कहना है कि किशोर के शरीर में दुम तब ही विकसित हो गई थी जब वो गर्भ में था, जैसे जैसे वो बड़ा होता गया, दुम भी बढ़ने लगी.

इमेज कॉपीरइट .

डॉक्टर प्रमोद गिरी ने बताया कि जब दुम का आकार बढ़ने लगा तब उसके पीठ पर दबाव बढ़ने लगा.

दुम किशोर को न केवल मानसिक रूप से बल्कि शारीरिक रूप से भी परेशान कर रही थी.

दुम का ऑपरेशन कोई परेशानी भरी सर्जरी नहीं थी लेकिन इसे न्यूरोसर्जन ने ऑपरेट किया क्योंकि दुम रीढ़ की हड्डी से जुड़ी थी.

ऑपरेशन के बाद किशोर को कुछ दिनों के लिए अस्पताल की देखरेख में रखा गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)