'दलितों का उत्पीड़न बढ़ा है बीजेपी के शासन में'

इमेज कॉपीरइट AP

बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी के शासन में पूरे देश में दलितों और अल्पसंख्यकों पर अत्याचार बढ़े हैं.

लखनऊ में कांशीराम के निर्वाण दिवस पर आयोजित रैली में मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, यूपी की सपा सरकार और कांग्रेस पर निशाना साधा है.

मायावती का कहना था, ''केंद्र सरकार ने अपना कोई भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया है. बीजेपी शासित राज्यों में दलितों, अल्पसंख्यकों और ओबीसी लोगों के खिलाफ अत्याचार बढ़े हैं. चाहे रोहित वेमूला का मामला हो या फिर गुजरात का उना कांड या फिर यूपी में दयाशंकर मामला हो. दलितों, अल्पसंख्यकों का शोषण बढ़ गया है. पूरे देश में कट्टरवादी और सांप्रदायिक ताकतों का बोलबाला हो गया है. गो रक्षा, लव जिहाद के नाम पर उत्पीड़न बढा है.''

इमेज कॉपीरइट PTI

मायावती ने कहा कि यूपी में बीजेपी सांप्रदायिक राजनीति कर रही है. उन्होंने कहा कि यूपी में दंगे कराने की भी कोशिश हो सकती है.

उनका कहना था, ''ये अफवाह भी फैलाई जा सकती है कि बसपा को बहुमत न मिले तो वो बीजेपी के साथ सरकार बना सकती है. इन अफवाहों पर ध्यान न दिया जाए.''

उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक्स का ज़िक्र करते हुए कहा कि भारत सरकार ने पहले भी सर्जिकल स्ट्राइक्स किए हैं लेकिन ये सरकार इस मामले पर राजनीति कर रही है.

उन्होंने कहा, ''ये मामला सैन्य गतिविधि है. अगर किसी और देश की सरकार होती तो इसका डंका नहीं पीटती लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजनीति करते हुए इस मौके पर लखनऊ आ रहे हैं दशहरा मनाने.''

मायावती ने यूपी की समाजवादी सरकार को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि यूपी में गुंडों और दबंगों का राज बढ़ गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.