पंपोर: सेना और चरमपंथियों के बीच मुठभेड़ जारी

इमेज कॉपीरइट EPA

पंपोर के एक प्रशिक्षण केंद्र में छिपे संदिग्ध चरमपंथियों और भारतीय सेना के बीच फायरिंग मंगलवार सुबह से तेज़ हो गई है.

लगता है कि सेना आंत्रप्रेन्योर डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट के हॉस्टल पर धावा करने की तैयारी में है.

पंपोर के इस हॉस्टल पर सोमवार को हमला किया गया था. सोमवार सुबह शुरु हुई मुठभेड़ में सेना का एक जवान घायल हो गया था.

हालांकि सोमवार को दोनों तरफ़ से फ़ायरिंग रुक-रूक कर होती रही जबकि अब गोलीबारी की आवाज़े तेज़ हो गई है.

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर बने इंस्टीच्यूट के आसपास के इलाक़ों में कर्फ्यू लगा दिया गया है.

सुबह हॉस्टल की छत से धुंआ निकलता देख चौकीदार ने पुलिस को इसकी जानकारी दी. पुलिस का कहना है कि अग्निशमन दल के वहां पंहुचने पर हॉस्टल के भीतर से गोलियां चलने लगीं.

इमेज कॉपीरइट EPA

थोड़ी देर बाद सुरक्षा बल, अर्धसैनिक बल और पुलिस के जवानों ने हॉस्टल की घेराबंदी कर संदिग्ध चरमपंथियों को खदेड़ने का साझा अभियान छेड़ दिया.

पुलिस ने कहा है कि गुप्तचरों को पहले ही यह जानकारी थी कि जम्मू, श्रीनगर और इसके आस पास के इलाक़ों को चरमपंथी निशाना बना सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

इस साल फ़रवरी में भी इसी इमारत में चरमपंथी घुस गए थे.

वह मुठभेड़ क़रीब 48 घंटे तक चली थी जिसमें एक नागरिक, चार चरमपंथियों और सुरक्षा बलों के तीन जवानों की मौत हो गई थी.

कश्मीर के उड़ी स्थित सेना की एक शिविर पर 18 सितंबर को हुए चरमपंथी हमले के बाद से भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में तनाव पैदा हो गया है.

इस हमले में सेना के 19 जवानों की मौत हो गई थी. उड़ी हमले के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक का दावा किया था.

सेना के इस दावे के बाद से कश्मीर घाटी में भारतीय सेना पर हमले की घटनाएं बढ़ गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार