'सर्जिकल स्ट्राइक' पर पर्रिकर के बयान से कांग्रेस नाराज़

इमेज कॉपीरइट PTI

भारत के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने यूपीए सरकार के समय में 'सर्जिकल स्ट्राइक' के दावे को ख़ारिज किया है. इसके साथ ही उन्होंने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में बीते महीने किए गए 'सर्जिकल स्ट्राइक' के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को श्रेय दिया है.

मुंबई में एक समारोह में बोलते हुए मनोहर पर्रिकर ने कहा, "मैं बीते दो साल से रक्षा मंत्री हूं और जहां तक मुझे जानकारी है, इससे पहले कभी सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किए गए. जिसका वे लोग जिक्र कर रहे हैं वो सीमा पर की गई कार्रवाई है, जो दुनिया भर में आम बात है."

पर्रिकर के इस बयान की कांग्रेस ने कड़ी आलोचना की है और उनके बयान को भ्रामक बताया है.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है, "मिस्टर पर्रिकर, सेना को पूरा श्रेय जाता है लेकिन आप लोगों को क्यों बरगला रहे हैं. पहले के सर्जिकल स्ट्राइक से इनकार करना सेना की वीरता को कमतर बताना है."

सुरजेवाला ने कहा, "2011 का ऑपरेशन जिंजर बड़े पैमाने पर किया गया सर्जिकल स्ट्राइक था. पर्रिकर सेना की वीरता पर क्यों चुप है, क्या यह राजनीति नहीं है?"

इमेज कॉपीरइट AFP

मनोहर पर्रिकर ने इस मौके पर ये भी कहा कि पाकिस्तान के ख़िलाफ़ बीते 30 साल का ग़ुस्सा 29 सितंबर को बाहर निकला.

पर्रिकर मुंबई में बुधवार को दो समारोह में हिस्सा ले रहे थे. अपने संबोधन में उन्होंने 'सर्जिकल स्ट्राइक' का श्रेय भारतीय सेना को देने के अलावा इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार के निर्णय और योजना को दिया.

इस दौरान पर्रिकर ने ये भी कहा कि सरकार इस स्ट्राइक का राजनीतिक फ़ायदा उठाने की कोशिश नहीं कर रही है. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता तो इस स्ट्राइक की घोषणा मैं करता, सेना का डीजीएमओ नहीं.

सुरजेवाला ने ये भी कहा है कि ये दुर्भाग्य है कि देश की सुरक्षा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि चमकाने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. कांग्रेस ने मनोहर पर्रिकर से इस्तीफ़े की मांग की है.

वैसे इस 'सर्जिकल स्ट्राइक' पर अरविंद केजरीवाल और संजय निरूपम सवाल खड़े कर चुके हैं और सरकार से इस बारे में सबूत की मांग भी हो चुकी है. पाकिस्तान ने भी 'सर्जिकल स्ट्राइक' के दावे को खारिज़ किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)