दिल्ली में 'चीनी माल की ब्रिकी पर असर'

इमेज कॉपीरइट AFP

टाइम्स ऑफ इंडिया अख़बार के मुताबिक़ व्यापारियों का कहना है कि चीनी-माल-बहिष्कार अभियान के कारण दिवाली की ब्रिकी पर असर पड़ रहा है.

उड़ी हमले के बाद सोशल मीडिया पर कुछ लोग चीनी सामानों के बहिष्कार का अभियान चला रहे हैं.

अख़बार ने इस मामले में पुरानी दिल्ली के व्यापारियों से बात की है.

हिन्दुस्तान टाइम्स अख़बार ने लिखा है कि सात बड़े आईआईटी को अपने संस्थान की फ़ीस तय करने की पूरी आजादी दी जाएगी.

सूत्रों के मुताबिक़ नई व्यवस्था के तहत फ़ीस तय करने का फ़ैसला संस्थान के बोर्ड ऑफ गवर्नर मिलकर करेंगे.

अभी आईआईटी परिषद फ़ीस का निर्धारण करती है. इसकी अध्यक्षता मानव संसाधन विकास मंत्री करते हैं. इसमें आईआईटी निदेशक समेत हर संस्थान के बोर्ड ऑफ गवर्नर भी शामिल रहते हैं.

मौजूदा समय में हर आईआईटी एक छात्र से 2 लाख रुपये फ़ीस लेती है, जबकि प्रत्येक छात्र पर 6 लाख रुपये ख़र्च आता है.

आईआईटी परिषद ने 24 अगस्त को विश्वजीत नाम की योजना शुरू की है. इस योजना के तहत 2018 तक आईआईटी को 500 करोड़ रुपये और अप्रैल 2021 तक 1000 करोड़ रुपये का कोरपस फंड जमा करना है.

इमेज कॉपीरइट DILIP SHARMA

इंडियन एक्सप्रेस अख़बार के मुताबिक़ अरुणाचल प्रदेश में पेमा खांडू की सरकार में भारतीय जनता पार्टी शामिल होने जा रही है.

भाजपा विधायक तामियो तागा पेमा खांडू की कैबिनेट में मंत्री बनेंगे.

अब अरुणाचल प्रदेश ऐसा चौदहवां राज्य बन जाएगा जहां भाजपा सत्ता में है. साथ ही, यह ऐसा छठवां राज्य होगा जहां भाजपा क्षेत्रीय पार्टियों के साथ सत्ता पर काबिज़ है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

टाइम्स ऑफ इंडिया अख़बार के मुताबिक़ अमरीका ने पाकिस्तान से कहा है कि वो "घोषित आतंकवादी" हाफ़िज़ सईद के ख़िलाफ़ कार्रवाई करे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

तीन तलाक औऱ समान नागरिक संहिता पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सरकार पर बरस रहे हैं.

मुस्लिम संगठनों का कहना है कि समान नागरिक संहिता पर सर्वे करना धार्मिक अधिकारों के ख़िलाफ़ है.

हिन्दुस्तान टाइम्स अख़बार ने हेडलाइन में लिखा है समान नागरिक संहिता के मुद्दे पर बढ़ते गुस्से के बाद भी केंद्र सरकार दृढ़ है.

दैनिक भास्कर अख़बार ने हेडलाइन दी है - बॉर्डर संभल नहीं रहा, देश में मुस्लिमों के खिलाफ जंग छेड़ रहे हैं मोदी: रहमानी.

अख़बार ने लिखा है कि लॉ कमीशन के 16 सवालों का बहिष्कार करते हुए बोर्ड के महासचिव मौलाना मोहम्मद वली रहमानी ने कहा है कि क़ानून बदलना समस्या का हल नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)