दो नए दोस्तों से बेहतर एक पुराना दोस्त: मोदी

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत के गोवा में हो रहे ब्रिक्स शिखर सम्मलेन के पहले दिन भारत और रूस ने 16 महत्वपूर्ण क़रार पर हस्ताक्षर किए.

ऊर्जा, बिजली, जहाज़ निर्माण, स्पेस और स्मार्ट सिटी के लिए दोनों देशों के बीच अहम समझौते हुए.

दोनों दशों के बीच 'आतंकवाद' बर्दाश्त नहीं करने पर भी सहमति बनी.

रूस के साथ अहम क़रार में कामोफ़ हेलिकॉप्टर 200 एयर डिफेंस, कुडनकुलम प्लांट के लिए समझौते पर मुहर लगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "पुतिन और हमारे बीच आतंकवाद और इसका समर्थन करने वालों को बर्दाश्त नहीं करने पर सहमति बनी."

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ब्रिक्स शिखर सम्मेलन, गोवा में व्लादीमिर पुतिन

मोदी ने ये भी कहा कि दो नए दोस्तों से एक पुराना दोस्त अच्छा है.

उन्होंने कहा कि आतंकवाद के ख़िलाफ लड़ाई के लिए रूस का रूख़ भारत की तरह स्पष्ट है.

नरेंद्र मोदी ने ये भी कहा कि, "हम आर्थिक संबंधों को मज़बूत करने और उसमें विविधता का विस्तार जारी रखेंगे. आज व्यापार, उद्योग हम दोनों देशों के बीच और अधिक गहराई से जुड़ा हुआ है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)