वाराणसी हादसा: पांच पुलिस अफ़सर निलंबित

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption भगदड़ में मरने वालों में ज़्यादा संख्या महिलाओं की है

शनिवार को वाराणसी के रामनगर पुल पर हुए हादसे के मामले में राज्य सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए पांच पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से दी गई सूचना के मुताबिक वाराणसी के एसपी सिटी, स्टेशन अफ़सर (एसओ) सिटी कोतवाली, एसओ रामनगर, एसओ मुग़लसराय और एसपी ट्रैफिक को निलंबित कर दिया गया है.

वाराणसी के राजघाट पुल से होकर बाबा जय गुरुदेव के धार्मिक समागम में भाग लेने वाले लोगों के बीच शनिवार को मची भगदड़ में 25 लोगों की मौत हो गई थी.

धार्मिक समागम में शामिल होने आई एक प्रत्यक्षदर्शी शीला ने शनिवार को बीबीसी से बातचीत में कहा, "ये समागम शाकाहार के प्रचार के लिए था. समागम के बाद जब लोग लौट रहे थे तब पुल पर जाने से लोगों को रोक दिया गया और फिर भगदड़ मच गई."

स्थानीय संवाददाता समीरात्मज मिश्र ने बताया कि राज्यमंत्री सुरेंद्र पटेल को वाराणसी भगदड़ राहत कार्यों की निगरानी करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है और वाराणसी के मंडलायुक्त को घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि जांच रिपोर्ट आने पर और अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जा सकती है.

इमेज कॉपीरइट ANURAG TIWARI
Image caption राजघाट पुल पर मची भगदड़, प्रशासन पर लापरवाही का आरोप

मृतकों के परिवार वालों के लिए पांच-पांच लाख रुपये के मुआवज़े का पहले ही एलान हो चुका है. घायलों को ढ़ाई लाख रुपए देने की बात कही गई है.

घायलों का वाराणसी के अस्पतालों में इलाज कराया जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)