मुज़फ़्फ़रपुर स्कूल मामला, प्रिंसिपल निलंबित

इमेज कॉपीरइट Satish Kumar
Image caption मुज़फ़्फ़रपुर केंद्रीय विद्यालय में दलित छात्र की पिटाई की गई थी.

बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर केंद्रीय विद्यालय में एक दलित छात्र के साथ मारपीट के मामले में स्कूल के प्रिंसिपल राजीव रंजन को सस्पेंड कर दिया गया है और मारपीट के अभियुक्त दो छात्रों को स्कूल से निकाल दिया गया है.

केंद्रीय विद्यालय संगठन पटना के उपायुक्त एमएल मिश्रा ने बीबीसी को इसकी पुष्टि कर दी है.

मिश्रा के अनुसार स्कूल प्रिंसिपल को मामले को कई हफ़्तों तक दबाए रखने और अपने वरिष्ठों को सही समय पर सूचित नहीं किए जाने का दोषी पाया गया है.

बाक़ी तीन छात्रों पर भी कार्रवाई करने के आदेश दे दिए गए हैं.

दलित छात्र के साथ मारपीट का एक वीडियो पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था जिसके बाद ही पुलिस और केंद्रीय विद्यालय प्रशासन भी हरकत में आए हैं.

इस बीच पुलिस ने इस मामले में दो नाबालिग़ लड़कों को गिरफ़्तार किया है.

इमेज कॉपीरइट SATISH KUMAR
Image caption स्कूल में जांच के लिए पहुंची केंद्रीय विद्यालय की टीम.

ज़िला पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि इस मामले में कुल पांच छात्रों को अभियुक्त बनाया गया है जिनमें से दो लड़कों को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

पुलिस के अनुसार गिरफ़्तार किए गए दोनों छात्र भाई हैं और नाबालिग़ हैं, इसलिए उन्हें जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के सामने पेश किया गया.

दोनों छात्रों को राज्य सरकार के ज़रिए चलाए जा रहे जुवेनाइल सेंटर भेज दिया है.

पुलिस के अनुसार ये मामला इसी साल अगस्त का है.

पुलिस ने कहा कि ग्यारहवीं कक्षा में पढ़ रहे एक छात्र के साथ पांच छात्रों ने मिलकर मारपीट की थी.

इमेज कॉपीरइट www.kvmuzaffarpur.in

पीड़ित छात्र अपने नाना के साथ रहता है. नाना की शिकायत के बाद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी लेकिन छात्र के पिता ने जब एससी-एसटी थाने में केस दर्ज करवाया तब पुलिस हरकत में आई.

पुलिस के अनुसार इस मामले में अभियुक्त तीन छात्र फ़िलहाल फ़रार हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)