टाटा ने मिस्त्री को हटाया, रतन फिर चेयरमैन

इमेज कॉपीरइट TWITTER
Image caption सायरस मिस्त्री टाटा समूह के चेयरमैन पद से हटाए गए

टाटा समूह ने सायरस मिस्त्री को ग्रुप चेयरमैन के पद से हटा दिया है. कंपनी की बोर्ड मीटिंग में ये फ़ैसला लिया गया.

रतन टाटा को चार महीने के लिए अंतरिम चेयरमैन बनाया गया है.

स्टाफ़ को भेजे एक ख़त में रतन टाटा ने लिखा, "टाटा संस के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स की मीटिंग में सायरस पी मिस्त्री को तत्काल प्रभाव से चेयरमैन पद से हटाने का फ़ैसला किया गया. बोर्ड ने नए चेयरमैन की नियुक्ति के लिए एक चयन समिति का गठन किया है. समिति को चार महीने में नए चेयरमैन के चयन की प्रक्रिया पूरा करने को कहा गया है. बोर्ड ने इस दौरान मुझसे चेयरमैन बनने को कहा और टाटा ग्रुप के स्थायित्व और हित के लिए मैंने उनकी बात पर सहमति जता दी."

टाटा संस के आर्टिकल्स ऑफ एसोसिएशन में मापदंड के अनुसार इस समिति में रतन टाटा, वेणु श्रीनिवासन, अमित चंद्रा, रोहन सेन और लॉर्ड कुमार भट्टाचार्य शामिल हैं.

समिति को चार महीने में नए चेयरमैन की नियुक्ति करना अनिवार्य है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रतना टाटा बने अंतरिम चेयरमैन

सायरस मिस्त्री 28 दिसंबर 2012 से टाटा संस के चेयरमैन थे.

50 साल तक काम करने के बाद रतन टाटा 28 दिसंबर 2012 को रिटायर हो गए थे.

रतन टाटा ने ही अपने उत्तराधिकारी के रुप में सायरस मिस्त्री को चुना था.

जब रतन टाटा ने उन्हें अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था तो तब टाटा समूह से बाहर उन्हें कम ही लोग जानते थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)