समाजवादी कुनबे की 'महाभारत' के अन्य पात्र

इमेज कॉपीरइट PTI

मुलायम सिंह यादव के 'समाजावादी पार्टी परिवार' में उनके बेटे अखिलेश यादव, बहु डिंपल यादव, भाई शिवपाल यादव और चचेरे भाई रामगोपाल यादव के नाम बार-बार राजनीतिक गलियारों में लिए जाते हैं.

लेकिन, हाल में परिवार का जो कलह सामने आया है उसमें अबतक पर्दे के पीछे रहने वाले कई नाम भी सुर्खियां बटोर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट LOKSABHA

साधना यादव

समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव की पत्नी हैं. लोकसभा सदस्य के तौर पर मुलायम सिंह यादव ने अपने परिवार के सदस्यों के बारे में जो जानकारी दी है, उसमें उनका नाम दर्ज है.

हालांकि, साधना अखिलेश यादव की मां नहीं हैं. अखिलेश की मां मालती देवी थीं, उनका निधन हो चुका है.

साधना यादव मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी हैं. वो सुर्खियों और राजनीतिक मंचों से दूर रहती रही हैं. लेकिन मौजूदा पारिवारिक विवाद में उनका नाम भी सामने आ गया है.

समाजवादी पार्टी से बाहर कर दिए गए एमएलसी उदयवीर सिंह ने मुलायम सिंह यादव को जो पत्र लिखा था उसमें साधना यादव पर गंभीर आरोप लगाए गए थे.

इमेज कॉपीरइट SAMEERATMAJ MISHRA
Image caption उदयवीर सिंह के मुलायम सिंह यादव को लिखे पत्र का एक हिस्सा

इस पत्र के सार्वजनिक होने के एक दिन बाद ही उदयवीर को पार्टी से बाहर कर दिया गया.

चर्चा है कि इस पत्र से मुलायम सिंह यादव काफी आहत थे, ख़ासकर अखिलेश की 'सौतेली मां' के जिक्र से.

प्रतीक यादव

प्रतीक साधना यादव साधना यादव के बेटे हैं.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK

लोकसभा की वेबसाइट में सांसद मुलायम सिंह यादव के बारे में जो जानकारी उपलब्ध है, उसमें उनके पुत्रों की संख्या एक (1) बताई गई है.

समाचार चैनल एबीपी न्यूज़ ने अपनी बेवसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट में सीबीआई की एक स्टेटस रिपोर्ट के हवाले से दावा किया है, "प्रतीक यादव मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के बेटे हैं लेकिन मुलायम सिंह के पुत्र नहीं."

एबीपी न्यूज़ के मुताबिक़, "सीबीआई की स्टेट्स रिपोर्ट के मुताबिक़ साल 2000 में प्रतीक के अभिभावक के तौर पर मुलायम सिंह का नाम दर्ज हुआ है. उसके बाद मुलायम सिंह की पहली पत्नी मालती देवी, जो अखिलेश यादव की मां थीं, के निधन के बाद मुलायम सिंह ने 23 मई 2003 को साधना गुप्ता से शादी करके उन्हें अपनी पत्नी का दर्जा दिया."

फ़ेसबुक से मिली जानकारी के मुताबिक़ प्रतीक यादव ने यूनिवर्सिटी ऑफ लीड्स से मैनेजमेंट किया है. उन्हें वर्क आउट करने का शौक है. वो जिम में काफ़ी वक्त बिताते हैं.

प्रतीक राजनीतिक और सार्वजनिक मंचों पर कम ही दिखाई देते हैं.

अपर्णा यादव

अपर्णा प्रतीक यादव की पत्नी हैं.

समाजवादी पार्टी ने साल 2017 के विधानसभा चुनाव के लिए लखनऊ की एक सीट से उन्हें उम्मीदवार बनाया है.

उम्मीदवार बनाए जाने के पहले उनका नाम भी चर्चा में कम ही रहता था. पारिवारिक विवाद शुरू होने के बाद साधना और प्रतीक के साथ अपर्णा यादव का भी न सिर्फ़ ज़िक्र हुआ बल्कि उनपर भी आरोप लगे.

इमेज कॉपीरइट PANKAJ

एमएलसी उदयवीर सिंह ने मुलायम सिंह यादव को लिखे पत्र में आरोप लगाया, "समय के साथ आपकी पत्नी, पुत्र व पुत्रवधु और आपके भाई के साथ उनके रिश्तेदार, मौक़ापरस्त नेता और ठेकेदार जुड़ते गए और मुख्यमंत्री जी के खिलाफ़ षडयंत्र रचते रहे."

हालांकि, तमाम आरोपों के बाद भी अपर्णा यादव ने साधना और प्रतीक यादव की तरह कभी किसी आरोप का सार्वजनिक तौर पर जवाब नहीं दिया है.

अक्षय यादव

फ़िरोजाबाद से सांसद हैं.

अक्षय समाजवादी पार्टी से बाहर कर दिए गए मुलायम सिंह यादव के चचेरे भाई रामगोपाल यादव के पुत्र हैं. उन्होंने नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी से बीबीए की डिग्री हासिल की है.

इमेज कॉपीरइट SAMEERATMAJ MISHRA

मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव ने जब रामगोपाल यादव को पार्टी से बाहर करने का फ़ैसला सुनाया तो उन्होंने अक्षय पर भी आरोप लगाया.

शिवपाल ने कहा, "रामगोपाल के पुत्र और पुत्रवधु यादव सिंह घोटाले में फंसे हुए हैं."

इसके बाद अक्षय यादव ने एक पत्र के जरिए शिवपाल पर पलटवार किया. उन्होंने पत्र में लिखा, "मेरे पिता, मुझ पर और मेरी पत्नी पर आरोप लगाए गए, यह सभी गलत हैं."

उन्होंने आगे लिखा, "माननीय श्री शिवपाल सिंह जी ने श्री अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री न बनाए जाने के लिए भरपूर कोशिश की."

अक्षय ने अपने पत्र में अखिलेश यादव के प्रति समर्थन भी जाहिर किया. उन्होंने लिखा, "श्री अखिलेश यादव मेरे आदर्श हैं. मैं उनकी बड़ी इज्ज़त करता हूं."

धर्मेंद यादव

धर्मेंद यादव उत्तर प्रदेश के बदांयू से सांसद हैं.

वो मुलायम सिंह यादव के भाई अभयराम यादव के पुत्र हैं. उन्होंने उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री हासिल की है.

इमेज कॉपीरइट PTI

हालांकि उन्होंने लोकसभा की वेबसाइट पर उन्होंने अपना व्यवसाय खेती बताया है.

वो तीसरी बार सांसद चुने गए हैं. धर्मेंद यादव 14वीं और 15वीं लोकसभा के भी सदस्य रह चुके हैं.

पारिवारिक विवाद के दौरान धर्मेंद यादव अखिलेश के पक्ष में बयान दे चुके हैं.

तेजप्रताप सिंह यादव

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी से सांसद हैं. वो मुलायम सिंह यादव के भतीजे रणवीर सिंह यादव के पुत्र हैं. वो पोस्ट ग्रेजुएट हैं और किसान हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

उनकी शादी राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी राजलक्ष्मी से हुई है. उनके विवाह समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शरीक़ हुए थे.

'टाइम्स ऑफ इंडिया' अख़बार के मुताबिक़ परिवार में वो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के क़रीबी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)