'दिल्ली का बेहद ख़राब मौसम, बच्चों को बचाएं'

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत की राजधानी दिल्ली के ख़राब होते मौसम की खबर हर अखबार के पहले पन्ने पर है.

द हिंदू ने शीर्षक दिया है कि दिल्ली में 17 सालों में सबसे खराब स्मॉग.

अखबार ने पर्यावरण विशेषज्ञों के हवाले से लिखा है कि सरकार को तुरंत स्वास्थ्य संबंधी अलर्ट जारी करना चाहिए और बच्चों को इससे बचाना चाहिए.

मौसम विभाग के अनुसार दो नवंबर को जो स्मॉग था दिल्ली में वो पिछले 17 साल के सबसे खराब हालात थे.

हिंदुस्तान टाइम्स ने इसी खबर को अपनी दूसरी लीड बनाया है और लिखा है कि हर साल 30 हज़ार से अधिक लोग स्मॉग के कारण दिल्ली में मरते हैं. इतना ही नहीं प्रदूषण के कारण हर व्यक्ति की उम्र करीब दो साल कम हो रही है.

इमेज कॉपीरइट EPA

टाइम्स ऑफ इंडिया लिखता है कि स्मॉग के कारण कई स्कूल बंद किए गए हैं.अखबार ने हवा में प्रदूषण के बढ़ते कणों का डाटा दिया है और लिखा है कि यह 500 अंक से ऊपर है जो खतरनाक स्तर को दर्शाता है.

इसके अलावा हर अखबार ने जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विस टैक्स की खबर को प्रमुखता से छापा है.

टाइम्स ऑफ इंडिया का शीर्षक है की चार स्लैब वाले जीएसटी में ज़रूरत की सामानों पर कम टैक्स है.

एक्सप्रेस के अनुसार 28 परसेंट का अधिकतम टैक्स जीएसटी के तहत लगाया गया है जो कि महंगे सामानों पर है.

द हिंदू का शीर्षक है. जीएसटी पर चार स्लैब का स्ट्रक्चर.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)